Tauktae Cyclone: मुंबई जाने वाले हवाई यात्रियों को झटका, 3 घंटे बंद रहेगा मुंबई एयरपोर्ट

Tauktae Cyclone: मुंबई जाने वाले हवाई यात्रियों को झटका, 3 घंटे बंद रहेगा मुंबई एयरपोर्ट
Fishermen row a boat near a fishing dhow that was thrown onto the rocks by strong winds caused by the impending cyclone Tauktae at a fishing village off the city coast in Mumbai on May 16, 2021. (Photo by Indranil MUKHERJEE / AFP) (Photo by INDRANIL MUKHERJEE/AFP via Getty Images)

आज Tauktae Cyclone(तौकते चक्रवात) के गुजरात पहुंचने की आशंका जताई जा रही है। तौकते चक्रवात प्रभावित कर्नाटक और गोवा राज्यों में क्रमशः चार और दो लोगों की मौत हो चुकी है।

देश के समुद्री इलाकों में Tauktae Cyclone ( तौकते चक्रवात) अपना कहर बरपा रहा है। मध्य पूर्वी अरेबियन समुद्री इलाके से होते हुए तौकते चक्रवात, उत्तर पश्चिमी इलाकों की ओर बढ़ चला है। भारतीय मौसम विभाग(IMD) ने तौकते चक्रवात के इस बदलाव को देखते हुए मुंबई के समुद्री इलाकों के लिए चेतावनी जारी कर दी है। तौकते चक्रवात, मुंबई के समुद्री इलाकों के नजदीक से गुजरने के आसार बताए जा रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार, मुंबई के कुछ इलाकों में तेज बारिश और हवाएं चलने की आशंका है। यही कारण है, कि मुंबई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट लिमिटेड ने सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बंद करने की घोषणा की है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को चक्रवात विकराल रूप धारण कर जन जीवन को छति पहुंचा सकता है।

वहीं मुंबई के पश्चिमी इलाके में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की तीन इकाइयां, इस चक्रवात में लोगों की मदद के लिए पहले से तैनात हैं। कई जगहों पर भारतीय नौसेना की टुकड़ियां भी मौजूद हैं। वहीं, मुंबई के कई इलाकों में पांच अस्थाई शिविर भी लगाए गए हैं, ताकि मुश्किल परिस्थितियों में लोग वहां आकर रह सकें।

आपको बता दें कि तौकते चक्रवात, पणजी, गोवा से दक्षिण पूर्व दिशा में 150 किलोमीटर दूर से शुरू होकर उत्तर दिशा की ओर बढ़ गया है। गोवा और केरल जैसे राज्यों में जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। कई जगहों पर लोगों के घर उजड़ गए हैं, साथ ही  मध्य रेलवे की घाटकोपर और विखरोली के बीच की यातायात सेवा भी ठप हो चुकी है। मौसम विभाग ने रविवार को अनुमान लगाया था, कि चक्रवात सोमवार तक गुजरात के पोरबंदर और महुआ इलाके तक पहुंच जाएगा।  वहीं मौसम विभाग के चक्रवात चेतावनी विभाग ने कहा है, कि मंगलवार तक हवा की गति 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुँच जाएगी, जो आगे चलकर 175 किलोमीटर प्रति घंटे पहुंचने की संभावना है। आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि कर्नाटक और गोवा में चक्रवात की चपेट में आकर क्रमशः चार और दो लोगों की मौत हो चुकी है।

Related Stories

No stories found.