मुकेश अंबानी के एंटीलिया से भी बड़ा घर है इस उद्योगपति का, जानिए इनके बारे में

Gautam Hari Singhania, Chairman & Managing Director of the Raymond Group looks on during an event in Mumbai on November 16, 2017.Raymond Group, the leading manufacturer, marketer and retailer of worsted suiting fabrics and ready-to-wear apparel launched a new range of fine fragrances. / AFP PHOTO / INDRANIL MUKHERJEE        (Photo credit should read INDRANIL MUKHERJEE/AFP via Getty Images)
Gautam Hari Singhania, Chairman & Managing Director of the Raymond Group looks on during an event in Mumbai on November 16, 2017.Raymond Group, the leading manufacturer, marketer and retailer of worsted suiting fabrics and ready-to-wear apparel launched a new range of fine fragrances. / AFP PHOTO / INDRANIL MUKHERJEE (Photo credit should read INDRANIL MUKHERJEE/AFP via Getty Images)

मंड ग्रुप के चेयरमैन गौतम सिंघानिया का मकान , सबसे अमीर भारतीय और सबसे अमीर एशियाई, मुकेश अंबानी के मकान से भी ऊंचा है। गौतम सिंघानिया उन चंद भारतीय  उद्योगपतियों में से हैं जिनके पास प्राइवेट यॉट और प्राइवेट जेट  का स्वामित्व है। 

भारत और एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी का दक्षिण मुंबई स्थित मकान 'एंटीलिया' लोगों के बीच अपनी ऊंचाई और भव्यता के कारण मशहूर है। पर रेमंड ग्रुप के चेयरमैन गौतम सिंघानिया का मुंबई स्थित 37 मंज़िला मकान 'जेके हाउस' 'एंटीलिया' के जैसा ही भव्य और उससे अधिक ऊंचा है। मुकेश अंबानी के एंटीलिया में महज़ 27 मंजिलें हैं जबकि गौतम सिंघानिया का जे के हाउस 37 मंजिला इमारत है। 

गौतम सिंघानिया रेमंड के पूर्व मुख्य, विजयपत सिंघानिया के पुत्र हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार गौतम सिंघानिया  ने अपने मकान के पुनर्निर्माण (रीडिवेलपमेंट)  के दौरान इसे 37 मंजिला बनवाया है, इससे पहले जेके हाउस 14 मंज़िला मकान हुआ करता था। इस पुनर्निर्माण में लगभग 270 करोड़ रुपये का खर्चा आया है। जेके हाउस की 10 में केवल स्विमिंग पूल, पार्किंग, स्पा, और हेलीपैड के लिए ही बनाए गए हैं। यह जानकारी अक्षयपत सिंघानिया ने इकोनॉमिक टाइम्स को दिए गए इंटरव्यू में साझा की है। अक्षय सिंघानिया, गौतम सिंघानिया के चचेरे भाई है। 

रिपोर्ट्स के अनुसार, जेके हाउस की नई रूपरेखा एंटीलिया से मिलती जुलती ही है। बिल्डिंग में बेसमेंट के बाद निचले तल की 2 मंजिलें दुकानों के लिए बनाई गई हैं। बिल्डिंग की कुल ऊंचाई लगभग 142 मीटर है। इसमें एक संग्रहालय का भी निर्माण किया जा रहा है।  

गौतम सिंघानिया सन 1990 में ही रेमंड ग्रुप में डायरेक्टर बन गए थे। कम उम्र में ही डायरेक्टर का पद हासिल करने के बाद वे तेज़ी से कंपनी में पदोन्नत होकर 1999 में वे रेमंड ग्रुप में एम डी बन गए। इसके बाद ही 2000 में उन्होंने ने इस ग्रुप के चेयरमैन की कुर्सी संभाल ली थी। गौतम सिंघानिया देश के उन चुनिंदा उद्योगपतियों में से एक हैं, जो प्राइवेट यॉट और प्राइवेट जेट के मालिक हैं।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com