Tarun Tejpal 2013 केस: गोआ कोर्ट ने तहलका मैगज़ीन संस्थापक को रेप केस में किया बरी।

DELHI, INDIA - JANUARY 12 : Indian writer Tarun Tejpa. Indian journalist, publisher and a novelist Tarun Tejpal in Delhi on July 15, 2018 in Delhi, India. (Photo by Frédéric Soltan/Corbis via Getty Images)
DELHI, INDIA - JANUARY 12 : Indian writer Tarun Tejpa. Indian journalist, publisher and a novelist Tarun Tejpal in Delhi on July 15, 2018 in Delhi, India. (Photo by Frédéric Soltan/Corbis via Getty Images)

तहलका मैगज़ीन(Tehalka Magazine) के संस्थापक और पूर्व एडिटर इन चीफ, तरुण तेजपाल ( Tarun Tejpal) को गोआ की एक अदालत ने रेप के आरोप से बरी कर दिया है। 2013 में तरुण तेजपाल ( Tarun Tejpal) की एक सहकर्मी ने उनपर गोआ के एक रिसोर्ट में रेप करने का आरोप लगाया था।

शुक्रवार को गोआ की एक जिला अदालत ने तरुण तेजपाल ( Tarun Tejpal ) रेप केस में फैसला सुना दिया। गोआ के जिला कोर्ट ने फैसले में तरुण तेजपाल ( Tarun Tejpal ) को रेप के आरोपों से बाइज़्ज़त बरी कर दिया। तरुण तेजपाल पर 2013 में अपनी मैगज़ीन की सहकर्मी के साथ रेप के आरोपों के तहत मुकदमा चल रहा था। तरुण तेजपाल की सहकर्मी ने उन पर रेप, यौन शोषण के आरोप लगाए थे। महिला सहकर्मी के अनुसार तरुण तेजपाल ने 2013 में गोआ के ही एक फाइव स्टार रिसोर्ट में कुकर्म किया था। कोर्ट ने तरुण तेजपाल पर लगे सभी आरोपों को खारिज कर दिया है। 

तरुण तेजपाल ने अदालत का फैसला आने के बाद कोर्ट को धन्यवाद दिया। कोर्ट को धन्यवाद देते हुए जारी बयान में तहलका मैगज़ीन के संस्थापक तरुण तेजपाल ने कहा, " नवंबर 2013 में मेरी सहकर्मी द्वारा मुझपर रेप का झूठा इल्ज़ाम लगाया गया। आज माननीय एडिशनल सेशन जज  क्षमा जोशी के ट्रायल कोर्ट ने मुझे बाइज़्ज़त बरी कर दिया है। आज के बुरे समय मे जहाँ आमतौर पर साहस एक दुर्लभ चीज़ बन गयी है, मैं सच के साथ खड़े रहने के लिए उनका आभारी हूँ।" 

इससे पहले, बुधवार को गोआ के सेशन कोर्ट ने सुनवाई टाल दी थी। कोरोना वायरस(Covid-19) के चलते स्टाफ की संख्या में कमी का हवाला देते हुए कोर्ट ने सुनवाई को टाल दिया था। कोर्ट ने उस समय सुनवाई के लिए अगली तारीख 21 मई मुकर्रर की थी। बुधवार को कोर्ट में तरुण तेजपाल (Tarun Tejpal) अपने वकील और पूरे परिवार के साथ अदालत में मौजूद थे। 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com