ब्लूटूथ के ज़रिए हैकर्स कर रहे डेटा की चोरी, जानिए कैसे करना है बचाव

ब्लूटूथ के ज़रिए हैकर्स कर रहे डेटा की चोरी, जानिए कैसे करना है बचाव
sarayut Thaneerat

Image Source

दुनिया में हैकिंग की समस्या बहुत आम हो गई है, जिसे लेकर एप डेवलपर्स ने भी साइबर हमलों से जुड़ी चिंता जाहिर की है. इसी बीच हैकर्स ने भी अब हैकिंग का नया तरीका ढूंढ निकाला है, जिसे ब्लूबगिंग कहा गया. इसके मुताबिक अगर आप किसी हैकर के 10 मीटर के दायरे में रहते हुए ब्लूटूथ (Bluetooth) का इस्तेमाल करते हैं, तो वह ब्लूबगिंग (Bluebugging) की मदद से आपका फोन आसानी से हैक कर लेगा.

क्या है ब्लूबगिंग?

एप डेवलपर्स की माने, तो ब्लूबगिंग एक ऐसा तरीका है जिससे ब्लूटूथ की मदद से किसी भी फोन को हैक किया जा सकता है. जिसका मतलब यह है, कि अगर किसी फोन या स्मार्टडिवाइस का ब्लूटूथ बहुत लंबे समय के लिए खुला रहेगा, तो वह इस खतरे के सबसे करीब होगा. इस प्रक्रिया में हैकर्स ब्लूटूथ कनेक्शन के ज़रिए किसी डिवाइस को हैक करते हैं. अगर उन्होंने एक बार किसी कनेक्शन को हैक कर लिया, तो हैकर्स आसानी से उस फोन के कॉल रिकॉर्डिंग्स और मेसेजेस भी पढ़ पाएंगे.

शुरुआत में जहाँ यह खतरा सिर्फ कंप्युटरों और लैपटॉप्स तक सीमित था, वहीं बाद में हैकर्स ने इसे मोबाईल और टैबलेट्स पर भी लागू करना शुरू कर दिया. एक स्वतंत्र सुरक्षा रिसर्चर मार्टिन हरफ़र्ट (Martin Herfurt) के मुताबिक, ब्लूटूथ के सहारे किसी फोन को हैक करने के बाद हैकर उसकी कॉल हिस्ट्री तक को अपने हिसाब से बदल पाएगा. क्योंकि ब्लूबगिंग का रास्ता ब्लूटूथ से होकर गुज़रता है, तो ऐसे में स्मार्टवाच और ईयरबड्स पर भी हैक होने का खतरा हमेशा बना रहेगा.

ब्लूबगिंग से कैसे बचें?

ब्लूबगिंग की इस बढ़ती समस्या से खुद का बचाव करने के लिए, आप कुछ बातों का खास खयाल रखें. सबसे पहली चीज़ तो यह है, कि अगर आपको ब्लूटूथ का कोई काम ना हो, तो आप उसे हमेशा बंद रखने की कोशिश करें. बिना मतलब के अपना ब्लूटूथ ऑन रखने से खतरा और बढ़ जाएगा. इसके अलावा किसी भी अंजाने कनेक्शन के रीक्वेस्ट को एक्सेप्ट ना करें. साथ ही उच्च स्तर के वीपीएन (VPN) सर्विस के इस्तेमाल को पहली प्राथमिकता दें. इन चीज़ों का ध्यान रखने से आप ब्लूबगिंग की समस्या से बच पाएंगे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि इस ‘ब्लूबगिंग’ शब्द का आविष्कार साल 2004 में मार्टिन हरफ़र्ट द्वारा ही किया गया था. हाल ही में जहाँ व्हाट्सएप (Whatsapp) के डेटा चोरी की खबर ने पुरी दुनिया में तहलका मचा दिया था, वहीं अब ब्लूबगिंग भी प्रौद्योगिकी के क्षेत्र की एक बड़ी समस्या बनकर सामने आ रही है.

यह भी पढ़ें: WhatsApp Data Leak: 50 करोड़ यूजर्स में कहीं आप भी तो नहीं? ऐसे करें चेक

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com