Free Fire Max V Badge: पार्टनर प्रोग्राम इवेंट का बनें हिस्सा, जीत सकते हैं ये अनोखा बैज

Free Fire Max V Badge: पार्टनर प्रोग्राम इवेंट का बनें हिस्सा, जीत सकते हैं ये अनोखा बैज

भारत में Free Fire पर प्रतिबंध लगने के बाद, Free Fire Max ने यूज़र्स के बीच काफ़ी अच्छी पकड़ बना ली है. इसके साथ ही, इस गेम में समय-समय पर शानदार और बड़े बदलाव भी देखने को मिल रहे हैं. वहीं गेम की निर्माता कंपनी गरेना (Garena) द्वारा, यूज़र्स के लिए कई शानदार इवेंट्स और प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है.

Free Fire Max के कई कंटेंट क्रिएटर्स के आधिकारिक चैनलों ने मिलियन सब्सक्राइबर्स का आंकड़ा छू लिया है. इसी के चलते, गरेना ने उनके कंटेंट को ओर आगे बढ़ाने के लिए, एक शानदार इवेंट का आयोजन किया है. दरअसल, गरेना ने Free Fire Max में एक पार्टनर प्रोग्राम इवेंट को शुरु किया है, जिसमें गेम के कंटेंट क्रिएटर्स हिस्सा ले सकते हैं और उन्हें सबसे पॉपुलर V Badge हासिल करने को मौका मिलेगा.

आपको बता दें, कि ये V Badge गेम में मैच के दौरान खिलाड़ियों और दर्शकों की प्रोफाइल पर दिखाई देता है. इस V Badge से खिलाड़ियों को काफ़ी फायदा होता है, जिससे कंटेंट क्रिएटर्स काफी ज़्यादा प्रभावित होते हैं. हालांकि, खिलाड़ियों को पार्टनर प्रोग्राम इवेंट में भाग लेने के लिए कुछ शर्तों को पूरा करना होगा. उसके बाद ही, उन्हें यह अनोखा बैज जीतने का मौका मिल सकता है.

Free Fire Max के V Badge के लिए करना होगा इन शर्तों का पालन

1) Free Fire Max के कंटेंट क्रिएटर के चैनल पर 1 लाख सब्सक्राइबर्स होने चाहिए.


2) 30 दिनों में खिलाड़ियों को 80% गेमिंग कंटेंट और कम से कम 3 लाख व्यूज़ मिलने चाहिए.


3) कंटेंट क्रिएटर को सोशल मीडिया पर हर रोज़ कंटेंट प्रदान करना होगा.


4) कंटेंट क्रिएटर को कड़ी मेहनत और गेम पॉलिसी के अनुसार, खिलाड़ियों को कंटेंट प्रदान करना होगा.

पार्टनर प्रोग्राम इवेंट में इस तरह से लें भाग

1. सबसे पहले पार्टनर प्रोग्राम की आधिकारिक वेबसाइट को खोलना होगा.


2. वेबसाइट खोलने के बाद, खिलाड़ियों को दाईं तरफ Apply Now के विकल्प पर क्लिक करना होगा.


3. Apply Now पर क्लिक करने के बाद, स्क्रीन पर गूगल फॉर्म खुल जाएगा, जिसमें दी गई महत्वपूर्ण जानकारियां भरनी होंगी.


4. जानकारी भरने के बाद, सबसे नीचे दिए गए Submit के विकल्प पर क्लिक करना होगा.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com