Online Gaming Industry देश में 2023 तक 2 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकती है, ऑल इंडिया गेमिंग फेडरेशन की आई रिपोर्ट

Online Gaming Industry देश में 2023 तक 2 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकती है, ऑल इंडिया गेमिंग फेडरेशन की आई रिपोर्ट

देश में Online Gaming Industry की वृद्धि किसी से छिपी नहीं है. भारत के हजारों युवा इस इंडस्ट्री के आधार पर अच्छी खासी कमाई कर रहे हैं. चाहे वो यूट्यूब पर लाइव गेम स्ट्रीम करके या फिर ऑनलाइन गेमिंग इवेंट में हिस्सा लेकर. यह इंडस्ट्री दिन ब दिन और भी फैलती जा रही है. खास तौर पर मोबाइल गेमिंग में पिछले 2-3 सालों में बहुत ही तेजी से वृद्धि कर रही है. हाल ही में ऑल इंडिया गेमिंग फेडरेशन की एक रिपोर्ट सामने आई है. रिर्पोट के मुताबिक साल 2023 तक देश की Online Gaming Industry 2 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगी. साल 2020 में यह आंकड़ा 1 बिलियन को पार गया है.

कितनी बड़ी है भारत और विश्व में Online Gaming Industry?

साल 2019 में दुनिया भर की Online Gaming Industry करीब 38 बिलियन डॉलर की थी. जिसके साल 2025 तक 122 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की आशंका है. भारत में साल 2016 में यह इंडस्ट्री सिर्फ 543 मिलियन डॉलर की थी. जो सिर्फ 3 ही सालों में दोगुनी हो गई और अब ये 1 बिलियन डॉलर से बड़ी इंडस्ट्री बन चुकी है. इस हिसाब से हर साल देश की यह इंडस्ट्री 18.6% के हिसाब से वृद्धि कर रही है. 

कैसे अलग है यह इंडस्ट्री बाकियों से?

कोरोना महामारी के दौरान जहां लगभग हर प्रकार की इंडस्ट्री महामारी की मार झेल रही थी. वहीं Online Gaming Industry उस स्थिति में भी बखूबी चल रही थी. उल्टा लॉकडाउन के दौरान इसमें ज्यादा वृद्धि देखी गई थी. इसके अलावा यह इंडस्ट्री किसी विशेष तकनीक के लोगों के लिए नहीं है. इस कारण से यह लगभग हर व्यक्ति की पहुंच में है. देश में डिजिटल क्रांति आने के बाद से इस इंडस्ट्री में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है. देश में करीब 400 गेमिंग से संबंधित स्टार्ट अप सामने आए हैं. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि भारत को ऑनलाइन गेमिंग पर अपनी टैक्स नीति में बदलाव लाने की जरूरत है. भारी टैक्स लागू करना इस उभरती हुई इंडस्ट्री के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है.

यह भी पढ़ें: Battleground Mobile India News: अब iOS पर भी आएगा BGMI, जानिये कब होगा रिलीज़ और कैसे करें डाउनलोड

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com