Paralympics 2020: भारत के पैरा एथलीटों से पांच स्वर्ण सहित 15 मेडल की उम्मीद

Paralympics 2020: भारत के पैरा एथलीटों से पांच स्वर्ण सहित 15 मेडल की उम्मीद

इस वर्ष Tokyo Paralympics के लिए भारत के अध्यक्ष, गुरशरण सिंह का मानना है कि देश इस साल अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगा, जिसमें पांच स्वर्ण सहित कम से कम 15 मेडल होंगे. बता दें कि, भारत, नौ गेम्स में प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार 54 एथलीटों के साथ अपने सबसे बड़े दल को मैदान में उतारेगा. इसमें पैरा तीरंदाजी, पैरा एथलेटिक्स, पैरा बैडमिंटन, पैरा कैनोइंग आदि के खिलाड़ी शामिल होंगे.  

भारतीय Paralympics समिति के महासचिव सिंह ने एक विज्ञप्ति में कहा, "मुझे उम्मीद है कि ये अब तक के सभी प्रदर्शनों में सर्वश्रेष्ठ Paralympics प्रदर्शन होगा. हमारे पैरा एथलीट ने जी जान लगाकर मेहनत की है. वह इन गेम्स में जीत हासिल करने के लिए काफ़ी उत्साहित हैं."

Paralympics गेम्स में भारत के ध्वजवाहक टी मरियप्पन भी टोक्यो पहुंचे चुके हैं. पैरा हाई जम्पर टी मरियप्पन से टोक्यो में उनका दूसरा Paralympics स्वर्ण जीतने की काफी उम्मीदें होंगी. भारत को तीरंदाजी में राकेश कुमार और श्याम सुंदर (कंपाउंड), विवेक चिकारा और हरविंदर सिंह (रिकर्व) और महिला तीरंदाज ज्योति बलियान (कंपाउंड इंडिविजुअल/मिक्स्ड इवेंट) से भी उमीदें लगी हैं. प्रमोद भगत, पुरुषों की SL3 स्पर्धा में स्वर्ण मेडल की उम्मीदों के साथ भारत के पैरा बैडमिंटन दल का नेतृत्व करेंगे.  कृष्णा नगर (SH6) और तरुण ढिल्लों (SL4) वह शटलर हैं, जिनसे अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है. भारत को दो बार के Paralympics चैंपियन Devendra Jhajharia (F46) के नेतृत्व में अपने पैरा भाला फेंक खिलाड़ियों से भी मेडल की उम्मीद होगी.

भारत के पास Paralympics के लिए मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन सुंदर सिंह गुर्जर और अजीत सिंह (F46 में भी), वर्ल्ड चैंपियन और F64 में वर्ल्ड रिकॉर्ड धारक संदीप चौधरी और नवदीप सिंह (F41) का पैरा भालाफेंक प्रतियोगिता में प्रदर्शन देखने लायक होगा. इसी बीच ख़बर है कि भारतीय Paralympics टीम का पहला ग्रुप टोक्यो पहुंच गया है. यह ग्रुप टोक्यो PCI अध्यक्ष Deepa Malik की निगरानी में पहुंचा है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com