Harbhajan Singh Retirement: खेल के मैदान में बेहतरीन रहा भज्जी का सफ़र

Harbhajan Singh Retirement:  खेल के मैदान में बेहतरीन रहा भज्जी का सफ़र

टीम इंडिया के लिए आखिरी बार अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने के पांच साल बाद, Harbhajan Singh ने शुक्रवार को खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की है. यह वहीं Harbhajan Singh हैं, जिन्होंने अपने 23 वर्ष लंबे करियर के दौरान 103 टेस्ट, 238 वन डे और 28 T20I खेले. अपने करियर में 700 से अधिक विकेट झटक चुके, टर्बनेटर के नाम से मशहूर खिलाड़ी अब मैदान पर नजर नहीं आएंगे.

Harbhajan Singh ने सन्यास की घोषणा यूट्यूब पर एक वीडियो साझा करते हुए की. इतना ही नहीं, उन्होंने अपने आधिकरिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट करते हुए लिखा, कि "सभी अच्छी चीजों का अंत होता है और आज जब मैं उस खेल से विदा ले रहा हूं, जिसने मुझे जीवन में सब कुछ दिया है, मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने इस 23 साल की लंबी यात्रा को सुंदर और यादगार बनाया. सभी क्रिकेटरों की तरह, मैं भी भारतीय जर्सी में अलविदा कहना चाहता था, लेकिन किस्मत में कुछ और लिखा था." उन्होंने अपने ट्वीट में अपने बचपन की बात करते हुए कहा, कि "जालंधर की तंग गलियों से लेकर टीम इंडिया का पगड़ी बनने तक का सफर पिछले 25 साल का खूबसूरत सफर रहा है."

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Harbhajan Singh का जन्म पंजाब के जालंधर में हुआ है. उनके पिता जी सरदार सरदेव सिंह प्लाहा, एक वाल्व व्यापारी हैं. उनके पिता ने ही उन्हें जोर देकर कहा था, कि वह अपने क्रिकेट करियर पर ध्यान केंद्रित करें और भारत का प्रतिनिधित्व करें. Harbhajan Singh ने मशहूर अभिनेत्री Geeta Basra के साथ शादी की है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Harbhajan Singh, क्रिकेट में भारत के चौथे सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं. Harbhajan Singh ने अपने क्रिकेट करियर में 103 टेस्ट और 236 एकदिवसीय मैच खेले है. साथ ही, उन्होंने 28 टी20 मैच भी खेले हैं. भज्जी ने टेस्ट मैच में 417, एकदिवसीय क्रिकेट में 269 विकेट अपने नाम किए हैं. साथ ही, अंतर्राष्ट्रीय T20 क्रिकेट में 25 विकेट उनके नाम दर्ज हैं. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 25 बार 5 या उससे ज्यादा विकेट झटके हैं. वहीं एकदिवसीय मैचों में उन्होंने 3 बार, 5 या 5 से ज्यादा विकेट झटके हैं. अपनी गेंदबाजी से बल्लेबाजों के पसीने छुड़ाने वाले भज्जी ने अपने क्रिकेट करियर में बल्ले से भी योगदान दिया है. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 2224, एकदिवसीय क्रिकेट में 1237, तो वहीं T20 में 108 रन बनाए हैं. इतना ही नहीं, उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 2 शतक भी जड़े हैं.

 भारतीय टीम के 2011 में क्रिकेट विश्व कप और 2007 में ICC T20 विश्व कप जीतने में Harbhajan Singh की बेहद अहम भूमिका रही थी. इसके अलावा, उन्होंने चार IPL ट्रॉफी भी जीती हैं. वह अपने IPL करियर में तीन फ्रेंचाइजी Mumbai Indians, Chennai Super Kings, और Kolkata Knight Riders के लिए खेल चुके हैं. वर्ष 2012 में उन्होंने Mumbai Indians के लिए कप्तानी भी की है.

Harbhajan Singh के शुरुआती दिनों की बात करें, तो वर्ष 1995 में, महज 15 वर्ष की आयु में, उन्होंने पंजाब के लिए अंडर-16 डेब्यू मैच खेला था. बेहतरीन क्रिकेट एंट्री करने के बाद, वर्ष 1997 में, महज़ 17 वर्ष की आयु में पंजाब के लिए प्रथम श्रेणी डेब्यू किया था. वर्ष 1998 में उन्होंने, अंडर-19 विश्व कप टीम के लिए जगह बनाई. इसके बाद, उन्हें भारतीय टीम में जगह बनाने में देर नहीं लगी.  वर्ष 1998 में ही उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में पर्दापण किया. वहीं वर्ष 2006 में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला T20 डेब्यू खेला था. 

Harbhajan Singh के अंतिम मैचों पर नजर डालें, तो उन्होंने वर्ष 2015 में आखिरी टेस्ट और एकदिवसीय मैच खेले थे. वहीं 2016 में आखिरी टी20 मैच खेलते नज़र आए थे.

Harbhajan Singh के सन्यास की घोषणा के मौके पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर Pragyan Ojha ने कहा, कि पूरे देश को Harbhajan singh पर गर्व है. भविष्य के प्रयासों के लिए आपको शुभकामनाएं. कई नव युवा स्पिनरों के लिए प्रेरणा बनने के लिए भी बहुत-बहुत धन्यवाद." कमेंटेटर Harsha bhogle ने भी उन्हें शुभकामनाएं दी हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com