Assembly Election Results 2022: यूपी में फिर लहराया योगी का परचम, जानिए क्या रहा इन नेताओं का हाल

Assembly Election Results 2022: यूपी में फिर लहराया योगी का परचम, जानिए क्या रहा इन नेताओं का हाल

भारत के 5 राज्यों में हुए Assembly Election के नतीजे, अब पूरे तरीके से सामने आ चुके हैं. इन 5 राज्यों में पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा शामिल है, जिनमें से 4 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जीत हासिल की है. वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) भारी बहुमत से जीती है.

Assembly Election के नतीजे आने के बाद अखिलेश यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने एक ट्वीट करते हुए लिखा, कि "हमारी सीटें ढाई गुना व मत प्रतिशत डेढ़ गुना बढ़ाने के लिए उत्तर प्रदेश की जनता का हार्दिक आभार! हमने दिखा दिया है, कि भाजपा की सीटों को घटाया जा सकता है. भाजपा की सीटों का ये घटाव लगातार जारी रहेगा. आधे से ज़्यादा भ्रम और छलावा दूर हो गया है बाकी कुछ दिनों में हो जाएगा, जनहित का संघर्ष जीतेगा."

Assembly Election में ऐसा रहा इन दिग्गजों का परिणाम

हालांकि, इस बार के Assembly Election में कई नेताओं के परिणाम काफ़ी चौकाने वाले आए हैं. इसमें पहला नाम उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का है. सिराथू विधानसभा सीट से लड़ने वाले केशव प्रसाद मौर्य को सपा की डॉक्टर पल्लवी पटेल ने 7,337 वोटों से हराया है.

इस हार के बाद उन्होंने कहा है, कि "सिराथू विधानसभा क्षेत्र की जनता के फ़ैसले को विनम्रतापूर्वक स्वीकार करता हूँ. 1-1 कार्यकर्ता की मेहनत के लिए आभारी हूँ और जिन मतदाताओं ने वोट रूपी आशीर्वाद दिया, उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करता हूँ."

इसके अलावा, उत्तर प्रदेश सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप सिंह शाही, पथरदेवा सीट से चुनाव जीत गए हैं. उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी सपा प्रत्याक्षी ब्रह्मशंकर त्रिपाठी को 28,681 वोटों से हराया है.

बृजेश पाठक और श्रीकांत शर्मा ने मारी बाज़ी

उत्तर प्रदेश सरकार के बहुचर्चित न्याय मंत्री बृजेश पाठक ने, लखनऊ कैंट सीट से सपा के सुरेंद्र सिंह गांधी को हराकर जीत हासिल की. उन्होंने सुरेंद्र सिंह गांधी को तकरीबन 40,000 से भी अधिक वोटों से हराया. इसके अलावा, उत्तर प्रदेश सरकार के एक और चर्चित मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी रिकॉर्ड तोड़ जीत हासिल की है. उन्होंने मथुरा सीट से कांग्रेस के प्रदीप माथुर को लगभग 1,10,000 वोटों से हराया.

स्वामी प्रसाद मौर्य को मिली करारी हार

दूसरी ओर, भाजपा का दामन छोड़कर सपा का हाथ थामने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य को करारी हार का सामना करना पड़ा. उन्हें फाज़िलनगर सीट से भाजपा के सुरेन्‍द्र कुशवाहा ने 45,633 वोटों के अंतर से हरा दिया है. सपा उम्‍मीदवार स्वामी प्रसाद मौर्य को कुल 69,710 वोट मिले, जबकि भाजपा के सुरेन्‍द्र कुशवाहा को 1,15,343 वोट मिले.

हार के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, कि "समस्त विजयी प्रत्याशियों को बधाई. जनादेश का सम्मान करता हूँ, चुनाव हारा हूँ, हिम्मत नहीं. संघर्ष का अभियान जारी रहेगा."

अजय कुमार लल्लू ने आखिरी दम तक लड़ने की कही बात

इस बार के Assembly Election में कांग्रेस का उत्तर प्रदेश से पूरी तरह से सफाया हो गया है. इसी बीच, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के प्रधान अजय कुमार लल्लू को तमकुही राज सीट से हार का सामना करना पड़ा. वह इस सीट से लगातार 2 बार जीत चुके हैं और इस बार हैट्रिक लगाने की फिराक में थे. उन्हें तमकुही राज सीट से भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी के असीम कुमार ने हराया है. उन्हें 1 लाख से ज़्यादा वोट मिले और अजय सिंह लल्लू को 33,496 वोट मिले.

नतीजे आने के बाद अजय कुमार लल्लू ने कहा, कि "जनमत को ससम्मान स्वीकार करता हूं. गरीबों, मज़दूरों, वंचितों के हक और अधिकारों के लिए आखिरी दम तक लड़ते रहेंगे. सम्मानित जनता, संघर्ष के साथियों और कार्यकर्ताओं का हृदय से आभार. लड़ेंगे - जीतेंगे."

चंद्र शेखर आज़ाद ने किया सबका धन्यवाद

आज़ाद समाज पार्टी के संस्थापक चंद्र शेखर आज़ाद ने गोरखपुर सीट से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने चुनाव लड़ा था. मगर उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा है. इसके साथ ही, वह अपनी ज़मानत भी नहीं बचा पाए. इस सीट से योगी आदित्यनाथ ने 1,02,000 वोटों से जीत हासिल की है.

नतीजे आने के बाद चंद्र शेखर आज़ाद ने कहा, कि "आज आये जनादेश को हम स्वीकार करते हैं और बहुजन समाज का धन्यवाद करते हैं, कि आपके परिश्रम से पहली बार विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी का आम जनता से परिचय हुआ. अब हमें बहुजन समाज को सत्ता में पहुँचाने के लिए बहुजन समाज में जन्में महापुरुषों-वीरांगनाओं की विचारधारा को आगे बढ़ाना है."

Related Stories

No stories found.