शोभायात्रा और माइक विवाद पर योगी आदित्यनाथ ने अपनाया कड़ा रुख, पुलिस को दिए सख़्ती के आदेश

शोभायात्रा और माइक विवाद पर योगी आदित्यनाथ ने अपनाया कड़ा रुख, पुलिस को दिए सख़्ती के आदेश

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने आने वाले त्योहारों को देखते हुए, सोमवार को पुलिस प्रशासन के साथ एक विडियो कान्फ्रेंसिंग के ज़रिए, समीक्षा बैठक का आयोजन किया. इस बैठक में उन्होंने पुलिस प्रशासन को अतिरिक्त तौर पर संवेदनशील रहने की हिदायत दी. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा, कि माहौल खराब करने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ़, सख़्त कारवाई की जाए.

गौरतलब है, कि देश के कई राज्यों में हनुमान जयंती और रामनवमी की शौभयात्रा के मौके पर, सामुदायिक हिंसा की घटनाएं सामने आईं थी. इसी को देखते हुए, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिना अनुमति धार्मिक यात्रा निकालने पर रोक लगा दी है. उन्होंने कहा, कि "कोई भी शोभायात्रा या धार्मिक जुलूस बिना प्रशासन की अनुमति के न निकाला जाए. अनुमति लेने वालों से शांति बनाए रखने के संबंध में शपथ पत्र लिया जाएगा. अनुमति केवल उन्हीं धार्मिक जुलूसों को दी जाएगी, जो पहले से चले आ रहे हों, नए आयोजनों को अनुमति नहीं दी जाएगी."

योगी आदित्यनाथ ने माइक को लेकर निकला स्पष्ट आदेश

इसके साथ ही, अज़ान और हनुमान चालीसा पर चल रहे माइक विवाद को लेकर भी मुख्यमंत्री ने एक आदेश निकाला है. उन्होंने इसे मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए कहा, कि "धार्मिक विचारधारा के अनुसार सभी को पूजा पाठ करने की स्वतंत्रता है. माइक का भी प्रयोग किया जा सकता है, लेकिन यह ध्यान में रहे, कि माइक की आवाज़ उस परिसर से बाहर न जाए. माइक की वजह से अन्य लोगों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए. इसके अलावा, नए स्थानों पर माइक लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी."

रामनवमी और हनुमान जयंती के दिन देश में भड़की थी हिंसा

कुछ समय पहले, देश के कई राज्यों में रामनवमी और हनुमान जयंती की शोभायात्रा में सांप्रदायिक हिंसा भड़की थी, जिसमें कई लोग घायल हुए थे. वहीं आगजनी की कई घटनाएं भी देखने को मिली थी. मध्यप्रदेश के खरगोन ज़िले में रामनवमी के दिन निकली शोभायात्रा में कुछ दंगाइयों ने पत्थरबाज़ी की थी. इस पत्थरबाज़ी में कई लोग घायल हुए थे.

इसके अलावा, गुजरात के खंभात में भी रामनवमी के दिन सांप्रदायिक हिंसा भड़की थी, जिसमें कई लोगों के घायल होने की खबर थी. वहीं 16 अप्रैल को हनुमान जयंती के मौके पर, दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई शोभायात्रा में 2 बड़े दंगे हुए. इस शोभायात्रा के दौरान, असामाजिक तत्वों ने पत्थर और बंदूक से गोलियां चलाईं, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए.

Related Stories

No stories found.