Birbhum Massacre: पश्चिम बंगाल में टीएमसी नेता की हत्या के बाद दिखा खूनी संघर्ष

Birbhum Massacre: पश्चिम बंगाल में टीएमसी नेता की हत्या के बाद दिखा खूनी संघर्ष

पश्चिम बंगाल के बीरभूम (Birbhum) में सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के एक नेता की हत्या का बाद हिंसा भड़क उठी. वहीं भीड़ कुछ इस तरह उग्र हो गई, कि एक गांव के दर्जनों घर फूंक दिए, जिसमें एक ही घर से 7 और कुल 10 लोगों की मौत हो गई है. मिली जानकारी के मुताबिक, बीरभूम जिले के रामपुरहाट में टीएमसी नेता और उपप्रधान, भादू शेख की हत्या का बदला लेने के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया है.

फ़िलहाल बीरभूम में हुई इस हिंसक घटना के बाद, पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं इस हिंसा में शव इतनी बुरी तरह से जल गए हैं, कि उन्हें पहचानना मुश्किल हो गया. हिंसा में जले गए सभी शवों को फिलहाल पुलिस ने बरामद कर लिया है.

पुलिस का इस हिंसा पर कहना है, कि “बीरभूम में हिंसा से पहले हिंसक भीड़ ने कई घरों के दरवाजे बंद कर दिए थे. इस मामले को लेकर विस्तृत जांच चल रही है." वहीं आग बुझाने पहुंचे दमकल अधिकारी के मुताबिक, इस हिंसा में एक ही घर से 7 शवों को बरामद किया गया है, जबकि कुल 10 लोग जल गए हैं.

Birbhum हिंसा पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री आमने सामने

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री, ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) और राज्यपाल जगदीप धनखड़ बीरभूम हत्याकांड को लेकर, एक बार फिर आमने सामने हो गए हैं. बंगाल में हुई इस हिंसा के बाद राज्यपाल ने एक वीडियो जारी कर कहा है, कि "भयानक हिंसा और आगजनी की घटना से संकेत मिलता है, कि बंगाल हिंसा की संस्कृति और जंगलराज के हवाले है."

राज्यपाल द्वारा कही गई इस बात पर ममता बनर्जी भड़क गईं और पत्र लिखकर, राज्यपाल के बयान पर आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा है , कि “राज्यपाल इसे तुरंत वापस लें. राज्यपाल संविधान की गरिमा का पालन करें एवं जिस मामले की जांच चल रही हो, उस पर टिप्पणी ना करें."

घटना के बाद शुरू हुआ पलायन

बीरभूम जिले में सोमवार को हिंसक भीड़ में जिस तरह से उत्पात मचाया है, उसके बाद से लोग काफ़ी डरे हुए हैं. लोगों में डर इस तरह घर कर गया है, कि उन्होंने उस गांव से पलायन करना शुरू कर दिया है. पलायन कर रहे लोग इस आशंका से दहशत में है, कि कहीं दुबारा इस तरह की घटना होने पर वह जीवित बच पाएंगे या नहीं.

गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

बीरभूम की घटना को लेकर बंगाल भाजपा अध्यक्ष, सुकांतो मजूमदार के नेतृत्व में भाजपा सांसदों ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की है. इसके बाद गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल राज्य की सरकार से, लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और घटना की रिपोर्ट मांगी है. वहीं राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने, बीरभूम पुलिस अधीक्षक को 3 दिन के भीतर रिपोर्ट तलब करने को कहा है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com