Yogi vs Kejriwal: आमने सामने आए दो मुख्यमंत्री, छिड़ी ‘सुनो केजरीवाल’ ‘सुनो योगी’ की बहस

Yogi vs Kejriwal: आमने सामने आए दो मुख्यमंत्री, छिड़ी ‘सुनो केजरीवाल’ ‘सुनो योगी’ की बहस

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव शुरू हो गए हैं, इसी बीच चुनावी सियासत भी अपने चरम पर है. वहीं चुनावों के इस दौर में भारतीय राजनीति के 2 बड़े चहरों के बीच, ट्विटर पर ज़बरदस्त तकरार देखने को मिली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री Yogi Adityanath और दिल्ली के मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal के बीच ट्विटर पर जमकर बहस हुई.इस बहस के दौरान, दोनों मुख्यमंत्रियों ने एक दूसरे पर जमकर निशाना साधा.

सोमवार रात को ट्विटर पर शुरु हुई Yogi Adityanath और Arvind Kejriwal की बहस अब भी जारी है, जहां दोनों मुख्यमंत्री एक दूसरे पर पलटवार करते नज़र आ रहे हैं. शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री Yogi Adityanath से हुई, जिन्होंने एक बाद एक कई ट्वीट करके Arvind Kejriwal पर निशाना साधा. दूसरी ओर, दिल्ली के मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal ने भी उन पर जमकर पलटवार किया.

Yogi Adityanath और Arvind Kejriwal के बीच की ट्विटर बहस, दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री Narendra Modi के लोकसभा में दिए धन्यवाद प्रस्ताव के भाषण की निंदा करने के बाद छिड़ी. इसमें Arvind Kejriwal ने लिखा था, कि "प्रधानमंत्री जी का बयान सरासर झूठ है. देश यह उम्मीद करता है, कि जिन लोगों ने कोरोना काल की पीड़ा को सहा है, जिन लोगों ने अपनों को खोया है, प्रधानमंत्री जी उनके प्रति संवेदनशील होंगे. लोगों की पीड़ा पर राजनीति करना, प्रधानमंत्री जी को बिलकुल शोभा नहीं देता."

इसी को लेकर Yogi Adityanath ने Arvind Kejriwal को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया, कि "Arvind Kejriwal का आदरणीय प्रधानमंत्री जी के बारे में आज का बयान घोर निंदनीय है. उनको पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. गोस्वामी तुलसीदास जी ने उन्हीं के जैसे लोगों के बारे में यह कहा है, कि…झूठइ लेना, झूठइ देना झूठइ भोजन, झूठ चबेना."

इसके बाद, Yogi Adityanath ने एक और ट्वीट करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री को लिखा, "सुनो केजरीवाल, जब पूरी मानवता कोरोना के दर्द से कराह रही थी, उस समय आपने उत्तर प्रदेश के कामगारों को दिल्ली छोड़ने पर विवश किया था. छोटे बच्चों व महिलाओं तक को आधी रात में उत्तर प्रदेश की सीमा पर असहाय छोड़ने जैसा अलोकतांत्रिक व अमानवीय कार्य आपकी सरकार ने किया था. आपको मानवताद्रोही कहें या.."

Yogi Adityanath के इसी ट्वीट पर पलटवार करते हुए Arvind Kejriwal ने उन्हीं के अंदाज़ में उन्हें जवाब देते हुए लिखा, "सुनो योगी, आप तो रहने ही दो. जब उत्तर प्रदेश के लोगों की लाशें नदी में बह रहीं थीं, तब आप करोड़ों रुपए खर्च करके मैगज़ीन में अपनी झूठी वाहवाही के विज्ञापन दे रहे थे. आप जैसा निर्दयी और क्रूर शासक मैंने नहीं देखा."

आपको बता दें, कि Yogi Adityanath और Arvind Kejriwal के बीच की बहस अब भी जारी है. दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच का यह विवाद और क्या नया रूप लेता है यह देखना काफी दिलचस्प होगा.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com