अग्निपथ योजना से देश में मचा बवाल, कहीं ट्रेनें जलाई गयीं, तो कहीं मचाया तोड़फोड़

अग्निपथ योजना से देश में मचा बवाल, कहीं ट्रेनें जलाई गयीं, तो कहीं मचाया तोड़फोड़

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के ख़िलाफ़ देश भर में लगातार प्रदर्शन हो रहा है. इस उग्र प्रदर्शन में अलग-अलग समूह में छात्र राष्ट्र की संपत्ति भी नष्ट कर रहे हैं. कहीं बसें, तो कहीं ट्रेन जलाई जा रही हैं. इस बीच, सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने छात्रों को आश्वासन दिया है.

विरोध की आग में झुलसा बिहार

अग्निपथ योजना के ख़िलाफ़ सबसे ज़्यादा प्रदर्शन बिहार में देखा गया जहां प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन में आग लगा दी और रास्ता भी जाम कर दिया. सूत्रों के अनुसार, अब तक 6 जगहों में ट्रेनों में आग लगा दी गयी है. पटना-मुगलसराय, समस्तीपुर-गोरखपुर और बरौनी-हाजीपुर रेल लाइन पर ट्रेन की आवाजाही पूरी तरह से प्रभावित है. वहीं, भड़के हुए छात्रों ने बीजेपी (BJP) कार्यालयों के साथ-साथ उनके कुछ नेताओं के घरों पर भी हमला कर दिया है. पुलिस मुख्यालय ने बिहार की हालत देखते हुए पूरे बिहार में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है.

अग्निपथ पर यूपी में बवाल

अग्निपथ योजना को लेकर विरोध प्रदर्शन हर जगह बढ़ता जा रहा है. यूपी के बलिया में आज सुबह ही प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन पर हमला कर दिया. उपद्रवियों ने ट्रेनों में तोड़फोड़ के साथ उन्हें आग के हवाले भी कर दिया. इतना ही नहीं, यहाँ पत्थरबाज़ी भी की गयी. पुलिस दल ने लाठी चार्ज करके इन उपद्रवियों को खदेड़ा. बलिया में हालत देख कर वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय कार्यालय की सुरक्षा भी बढ़ानी पड़ी. वहीं, जौनपुर में उपद्रवियों ने हाईवे जाम किया.

बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तेलंगाना, मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में अग्निपथ योजना के ख़िलाफ़ जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने छात्रों को आश्वासन देते हुए बड़ी बात कही है.

उन्होंने अपनी एक ट्वीट के जरिये, छात्रों को किसी भी तरह के बहकावे में आने से मना किया है और ये भी आश्वासन दिया है कि अग्निपथ योजना न सिर्फ युवाओं को अच्छा अवसर प्रदान करेगी, साथ ही 4 सालों के बाद इन अग्निवीरों को पुलिस अथवा अन्य सेवाओं में भर्ती के लिए प्राथमिकता दी जाएगी.

जानें क्या है पूरा मामला

14 जून को केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना की घोषणा की थी. जिसमें सेना में भर्ती होने के की नई स्कीम बताई गयी थी. इस योजना के तहत, सेना में 4 सालों के लिए युवाओं को भर्ती किया जायेगा और 4 सालों के बाद इनमें से कुछ सैनिकों को रिलीज़ कर दिया जायेगा. 4 सालों के बाद वे सेवा निधि भी पाएंगे और एक तय राशि भी पाएंगे, जिस पर कोई टैक्स भी नहीं लगेगा. इसी योजना के ख़िलाफ़ छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं कि 4 सालों के बाद उनका क्या होगा, साथ ही उनके और भी कई मांगे भी हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com