Congress Marathon Rally: बरेली में कांग्रेस की मैराथन दौड़ में मची भगदड़, लड़कियां हुईं घायल

Congress Marathon Rally: बरेली में कांग्रेस की मैराथन दौड़ में मची भगदड़, लड़कियां हुईं घायल

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर सभी राजनीतिक पार्टियां प्रचार-प्रसार में कोई कसर नहीं छोड़ रहीं हैं . वहीं, बरेली में Priyanka Gandhi की  "लड़की हूं, लड़ सकती हूं' अभियान के तहत Congress Marathon Rally का आयोजन किया गया. रेस के शुरू होते ही भगदड़ मच गई, जिसमें कई लड़कियां घायल हो गई हैं .गौरतलब है, कि बीते सोमवार को बरेली में बिशप मंडल इंटर कॉलेज के मैदान में सुबह 10 बजे दौड़ रखी गई थी. जैसे ही दौड़ की शुरुआत हुई तो आगे दौड़ रहीं बच्चियां धक्का लगने से गिर गईं. इसके बाद पीछे से दौड़ रही छात्राएँ, उन बच्चियों की भीड़ पर चढ़ गईं. 

Congress पार्टी ने बताया साजिश

Congress Marathon Rally में हुई घटना के बाद कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व मेयर Supriya Aron का बयान भी सामने आया है. उन्होंने कहा, कि जब वैष्णों देवी में भगदड़ मच सकती है,  तो  ये तो बच्चियां हैं. ये इंसानी फितरत है, लेकिन मैं मीडियाकर्मियो से माफी मांगती हूं. ये साजिश भी हो सकती है, कांग्रेस के बढ़ते जनाधार को देखते हुए यह साजिश हो सकती है. 

उत्तर-प्रदेश के बरेली में हुई Congress Marathon Rally की घटना पर  कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता,  Ashok Singh ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, "यह भाजपा सरकार द्वारा रची गई साजिश है.स्थानीय जिला प्रशासन को पता था कि मैराथन हो रही है, फिर भी उन्होंने सहयोग नहीं किया". 

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Congress Marathon Rally में मची भगदड़ में घायल हुई छात्राओं को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है. जानकारी के मुताबिक, एंबुलेंस के जरिए 3 छात्राओं को तुरंत अस्पताल भेजा गया. घटना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची तथा पता लगाने की कोशिश कर रही है, कि आखिर ये भगदड़ कैसे हुई. 

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारी शुरू हो चुकी है और 403 सीटों वाली 18वीं विधानसभा के लिए चुनाव फरवरी से अप्रैल के बीच हो सकते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि 17वीं विधानसभा के लिए 403 सीटों पर चुनाव 11 फरवरी से 8 मार्च 2017 तक 7 चरणों में हुए थे.  इनमें लगभग 61 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com