बढ़ती महंगाई और घटते ब्याज दर को लेकर राहुल गांधी ने फिर साधा केंद्र पर निशाना

बढ़ती महंगाई और घटते ब्याज दर को लेकर राहुल गांधी ने फिर साधा केंद्र पर निशाना

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने केंद्र से बढ़ती महंगाई और घटते ब्याज दर को लेकर सवाल पूछे हैं. दरअसल, राहुल गांधी ने एक ट्वीट करके केंद्र सरकार से आम जनता पर बढ़ती महंगाई की मार और घटते ब्याज दरों को लेकर सवाल किया है.

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कुछ आँकड़े दिये हैं, जो यह दिखा रहे हैं, कि महंगाई दर बढ़ रही है और ब्याज दर लगातार कम होती जा रही है. इस ट्वीट में कांग्रेस सांसद ने केंद्र से सवाल करते हुए पूछा है, कि “जनता को राहत देने की ज़िम्मेदारी क्या सरकार की नहीं है?”

दरअसल, कुछ दिन पहले ही कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने यह घोषणा की थी, कि ब्याज दरों को 8.6% से कम करके 8.1% कर दिया गया है. आपको बता दें, कि ब्याज दर पीछले 40 सालों में कभी भी इतने नीचे नहीं गई हैं. इसके साथ ही, कई बैंक भी फिक्सड डिपाॅज़िट (Fixed Deposit) पर 5.1% ब्याज दर देना शुरु कर चुके हैं. वहीं कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के इस फ़ैसले से लगभग 6 करोड़ कर्मचारियों को झटका लगा है.

गौरतलब है, कि यह पहली बार नहीं है जब राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से सवाल किये हैं. इससे पहले भी राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र पर निशाना साधते हुए एक करारा कटाक्ष किया था. कांग्रेस सांसद ने अपनी केरल यात्रा के दौरान कहा था, कि "यह तथ्य पूरी तरह से सच है, कि हमारे देश में लोग शासन के नाम पर सिर्फ नफरत और गुस्सा फैला रहे हैं. आप सरकार द्वारा फैलाए गए गुस्से का नतीजा देख भी सकते हैं, कि आज हमारी अर्थव्यवस्था का क्या हाल हो चुका है. वहीं बेरोज़गारी और महंगाई का स्तर तो डराने वाला है.” उन्होंने कहा था, कि मोदी सरकार को यह बात समझनी चाहिए, कि कार्यालय ज़िले के लोगों के लिए एक साधन की तरह होना चाहिए, हिंसा के लिए नहीं.

Related Stories

No stories found.