Narendra Modi News: 5वें BIMSTEC समारोह का हिस्सा बनेंगे प्रधानमंत्री, वर्चुअल मोड से होंगे शामिल

Narendra Modi News: 5वें BIMSTEC समारोह का हिस्सा बनेंगे प्रधानमंत्री, वर्चुअल मोड से होंगे शामिल

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), 30 मार्च को 7 देशों के BIMSTEC (Bay of Bengal Initiative for Multi Sectoral Technical and Economic Cooperation) समूह के साथ एक आभासी शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे. इस शिखर सम्मेलन में सदस्य देशों के बीच आर्थिक जुड़ाव के विस्तार पर ध्यान केंद्रित करने की उम्मीद है. इस शिखर सम्मेलन की मेजबानी श्रीलंका द्वारा BIMSTEC के अध्यक्ष के रूप में की जा रही है.

BIMSTEC बहु क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग की एक पहल है. भारत और श्रीलंका के अलावा इस समूह में बांग्लादेश, म्यांमार, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं. भारत BIMSTEC को क्षेत्रीय सहयोग के लिए कार्यकारी बनाने के लिए ठोस प्रयास कर रहा है. क्योंकि SARC देशों की वजह से पहले कई कारणों से यह आगे नहीं बढ़ पाए हैं.

विदेश मंत्रालय ने इस बारे में जानकारी साझा करते हुए बताया है, कि BIMSTEC के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक 28 मार्च को होगी. इसके उपरांत, 29 मार्च को सभी विदेश मंत्रियों की बैठक होना तय है. विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) 28 मार्च से 30 मार्च तक श्रीलंका के दौरे पर रहेंगे. वे वहां BIMSTEC विदेश मंत्रियों की बैठक में भी शामिल हो सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) पहले भी इस समारोह का हिस्सा रह चुके हैं.

विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, Covid-19 महामारी संबंधित चुनौतियां और अंतरराष्ट्रीय प्रणाली के भीतर अनिश्चितता आई है. इस अनिश्चितताओं का सभी BIMSTEC सदस्य सामना कर रहे हैं. BIMSTEC तकनीकी और आर्थिक सहयोग को अगले स्तर तक ले जाने के लक्ष्य को अधिक तेजी प्रदान करने का काम कर रहा है. विदेश मंत्रालय ने यह उम्मीद भी जताई है, कि BIMSTEC समारोह के माध्यम से नेताओं के समूह द्वारा बुनियादी संस्थागत ढांचे और तंत्र की स्थापना पर चर्चा करने की उम्मीद है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि एक क्षेत्र संचालित समूह होने की वजह से BIMSTEC ने वर्ष 1997 में 6 क्षेत्रों को अपने अंतर्गत शामिल किया था. इनमें मुख्य रूप से व्यापार, प्रौद्योगिकी, ऊर्जा, परिवहन, पर्यटन और मत्स्य पालन पर ध्यान केंद्रित किया गया था. इसके उपरांत, वर्ष 2008 में कृषि, सार्वजनिक स्वास्थ्य, गरीबी उन्मूलन जैसे मुद्दों को भी BIMSTEC ने अपने अंतर्गत शामिल कर लिया.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com