Narendra Modi Latest News: महाराष्ट्र को केंद्र से मिला नया उपहार, अब कम होगी भीड़ भाड़

Narendra Modi Latest News: महाराष्ट्र को केंद्र से मिला नया उपहार, अब कम होगी भीड़ भाड़

प्रधानमंत्री Narendra Modi द्वारा समय-समय पर हर राज्य के लिए कोई ना कोई उपहार दिए जाते हैं. इस बार प्रधानमंत्री Narendra Modi ने महाराष्ट्र को एक बहुत बड़ी सौगात दी है. उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक रेलवे लाइन का उद्घाटन किया है . यह रेलवे लाइन ठाणे और डीवा को जोड़ेगी. इस उद्घाटन के अलावा उन्होंने उपनगरीय रेलवे की दो ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया है. उद्घाटन समारोह में उन्होंने देश के नाम संबोधन भी दिया है. अपने संबोधन में उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती के बारे में बात करते हुए कहा, "मैं भारत के गौरव, पहचान और संस्कृति के रक्षक के महानायक के चरणों में अपना नमन करता हूं. जयंती से 1 दिन पहले मुंबई के ठाणे और डीवा के बीच नई रेल लाइन के शुभारंभ से मुंबई निवासियों को मेरा हार्दिक अभिनंदन है".

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने इस रेल लाइन की शुरुआत से लोगों के जीवन में आने वाले बदलाव को लेकर बात करते हुए कहा, कि "रेल लाइन मुंबई वासियों के जीवन में बहुत बड़ा बदलाव लाने वाली है. मुंबई की रेल लाइन कभी न थमने वाली जिंदगी को और तेज रफ्तार देगी. अब से लोकल और एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए अलग-अलग रेल लाइनें हो जाएंगी." इस मौके पर Uddhav thakrey भी मौजूद थे.

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने जीवन की बढ़ती रफ्तार के बारे में बात करते हुए कहा, कि "मुंबई की हाई स्पीड रेल आज मुंबई के साथ-साथ पूरे देश की जरूरत है. बहुत से लोग मुंबई में अपने सपनों को पूरा करने के लिए आते हैं. और यह शहर के सपनों को पूरा करने की एक सशक्त पहचान बनेगी. यह प्रोजेक्ट जल्द से जल्द पूरा हो हमारी यही कोशिश है."

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि ठाणे और डीवा को जोड़ने वाली इस रेलवे लाइन को बनाने में लगभग 600 करोड़ रुपए का खर्च आया है. इसकी लंबाई 1.4 किलोमीटर है, जिसमें 3 बड़े पुल और 21 छोटे पुल भी शामिल किए गए हैं. केंद्र सरकार को उम्मीद है कि इससे मुंबई की उपनगरीय ट्रेनों का ट्रैफिक काफी हद तक कम हो सकता है.

इस समारोह का हिस्सा बनने से पहले आज सुबह प्रधानमंत्री Narendra Modi ने अपने लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर पूरे भारत के प्रमुख सिखों की मेजबानी की और राष्ट्रीय अखंडता और समृद्धि में समुदाय के योगदान की सराहना की. इस बैठक के बाद, सिख नेताओं ने प्रधानमंत्री को "दिल से सिख" के रूप में वर्णित किया और करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन प्रक्रिया में उनके योगदान को सूचीबद्ध किया.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com