Jahangirpuri Violence: 23 आरोपी गिरफ्तार, 8 के नाम पहले से क्रिमिनल रिकॉर्ड दर्ज

Jahangirpuri Violence: 23 आरोपी गिरफ्तार, 8 के नाम पहले से क्रिमिनल रिकॉर्ड दर्ज

शनिवार को दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव पर हुई हिंसा मामले में अब तक 23 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है. जिसमें से 8 आरोपियों के नाम पहले से क्रिमिनल रिकॉर्ड दर्ज हैं. हिंसा के दौरान फायरिंग करने वाला असलम भी दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ गया है. इसके साथ ही, हिंसा की जांच के लिए पुलिस की 10 टीमें गठित की गई हैं. आपको बता दें, कि अदालत ने आरोपी मोहम्मद असलम और सह-आरोपी मोहम्मद अंसार को सोमवार तक पुलिस हिरासत में भेजा है.

जहांगीरपुरी में कैसे भड़की हिंसा की आग?

आपको बता दें, कि दिल्ली के उत्तर-पश्चिमी इलाके जहांगीरपुरी में बीते शनिवार को हनुमान जन्मोत्सव पर निकाली गई शोभायात्रा पर पथराव हुआ था. जिसके बाद यह हिंसा भड़की, जिसमें कई दुकानों में लुटपाट हुई, सड़क के किनारे खड़े वहनों को फूँक दिया गया. जब यह शोभायात्रा एक मस्जिद के सामने से गुज़र रही थी, तभी वहां अचानक से गोली चलने की आवाज़ आई और भगदड़ मच गई. हंगामा बढ़ते ही दूसरी तरफ से सैकड़ों लोग जमा हो गये. मजहबी नारेबाजी होने लगी जिससे हिंसा और भी बढ़ गई और शोभायात्रा पर पथराव शुरू कर दिया गया.

शोभायात्रा पर गोली चलाने वाले सोनू चिकना की मां का बयान आया सामने

हनुमान जन्मोत्सव पर निकाली गई शोभायात्रा पर हुए हमले के दौरान गोली चलाने वाले सोनू की मां असीफा का बयान आया है. जहांगीरपुरी फायरिंग मामले के फरार आरोपी सोनू की मां ने कबूल किया है, कि उनके बेटे ने गुस्से में गोली जरूर चलाई है लेकिन किसी को मारा नहीं है.

भारत में रहने के लिए ‘जय श्री राम’ कहना जरूरी ?

जहांगीरपुरी हिंसा के बाद, ट्विटर पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो को लोगों के द्वारा खूब शेयर किया जा रहा है. जिसमें एक व्यक्ति से कुछ मीडिया पत्रकारों के द्वारा सवाल किए जा रहे हैं. जब एक मीडिया पत्रकार ने उस व्यक्ति से पूछा, कि क्या ‘जय श्री राम’ बोलने वाला व्यक्ति ही भारत में रह सकता है? इस पर उस व्यक्ति ने कहा, कि “हिंदुस्तान में रहने वाला हर व्यक्ति हिन्दू है और उसे ‘जय श्री राम’ बोलना होगा”. जब मीडिया पत्रकारों ने उनसे पूछा, कि ऐसा क्यों, इस पर वह बिना जवाब दिए ही चले गए.

शोभायात्रा में नज़र आई तलवारें

दिल्ली के उत्तम नगर इलाके में शोभायात्रा के दौरान कई लोगों के हाथों में तलवारें, चाकू समेत कई धारदार चीज़ें दिखाई दी. शोभायात्रा में लोगों द्वारा किए जा रहे, इन हथियारों का प्रयोग हिंसा को बढ़ावा दे रहा है. लोगों द्वारा जिन हथियारों का इस्तेमाल शोभायात्रा में किया गया यह देश की सुरक्षा और शांति के लिए खतरा बन सकता है.

मोहम्मद अंसार का एक और वीडियो हुआ वायरल

जहांगीरपुरी इलाके में हुए हिंसा मामले में गिरफ्तार हुए आरोपी मोहम्मद अंसार का एक वीडियो ट्विटर पर काफी वायरल हो रहा है. जिसमें वह एक नाबालिक बच्चे को समझाते हुए नज़र आ रहा है . इस वायरल वीडियो में मोहम्मद अंसार उस बच्चे से धारदार हथियार को रखने की वजह पूछ रहा है, साथ ही हथियार रखने के लिए मना कर रहा है. हालांकि, इस वीडियो में वह बच्चा हिन्दू है या मुसलमान इस बात की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन हथियारों का रखना गलत है. इसके साथ ही आपको बता दें, कि कई लोगों का मानना है, कि मोहम्मद अंसार अपने इलाके का गुंडा है, जो जुआ, कालाबाजारी और दो नंबर का काम करता है.

Related Stories

No stories found.