प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया देश के पहले 'प्रधानमंत्री संग्रहालय' का उद्धाटन, टिकट खरीदकर बने पहले विज़िटर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया देश के पहले 'प्रधानमंत्री संग्रहालय' का उद्धाटन, टिकट खरीदकर बने पहले विज़िटर

गुरुवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने 'प्रधानमंत्री संग्रहालय' (Pradhan Mantri Sangrahalaya) का उद्घाटन किया. दिल्ली के तीन मूर्ती भवन परिसर में बनाए गए इस प्रधानमंत्री संग्रहालय को, आज़ादी के बाद से भारत के सभी प्रधानमंत्रियों को जनता के दिलों में ज़िंदा रखने के लिए बनाया गया है. इस प्रधानमंत्री संग्रहालय में जाने से पहले लोगों को टिकट खरीदनी पड़ेगी. गुरुवार को इसके उद्घाटन से पहले, खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी संग्रहालय जाने के लिए डिजिटल पेमेंट के ज़रिए इसका टिकट खरीदा.

आपको बता दें, कि नरेंद्र मोदी द्वारा खरीदी यह टिकट प्रधानमंत्री संग्रहालय की पहली टिकट थी. इसी के साथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इसके पहले विज़िटर भी बने. प्रधानमंत्री कार्यालय से दी गई सूचना के मुताबिक, "प्रधानमंत्री संग्रहालय सभी भारतीय प्रधानमंत्रियों के नेतृत्व, दूरदृष्टि और उपलब्धियों के बारे में युवा पीढ़ी को संवेदनशील और प्रेरित करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक समावेशी प्रयास है."

प्रधानमंत्री संग्रहालय की क्या है खासियत

दिल्ली में बना ये प्रधानमंत्री संग्रहालय अपने आप में बेहद खास है. भारत में अब तक इससे पहले, इस तरह का कोई भी संग्रहालय नहीं बना था. इस संग्रहालय में लोगों को भारत के कुल 14 पूर्व प्रधानमंत्रियों से जुड़ी जानकारियां मिलेंगी, जो उनके मुश्किलों का सामना करके देश को आगे बढ़ाने की कहानी बताता है.

इसी के साथ, प्रधानमंत्री संग्रहालय में भारत के इतिहास की एक झलक भी देखने को मिलेगी, जिसमें आज़ादी की लड़ाई से लेकर आज के समय तक की यात्रा दिखाई जाएगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि प्रधानमंत्री संग्रहालय में कुल 43 गैलरी हैं. वहीं यहां कटिंग-एज टेक्नोलॉजी-बेस्ड इंटरफेस लगे हैं, जिससे इसमें डिस्प्ले का रोटेशन होता है.

गौरतलब है, कि दिल्ली के तीन मूर्ति भवन की पहचान अब तक नेहरू मेमोरियल म्यूजियम के नाम से होती थी. मगर आज से इसे प्रधानमंत्री संग्रहालय के तौर पर भी पहचाना जाएगा. इसमें केवल जवाहरलाल नेहरू ही नहीं, बल्कि अन्य प्रधानमंत्रियों के बारे में भी पूरी जानकारी बेहद उम्दा तरीके से पेश की गई है.

Related Stories

No stories found.