क्या अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को मिलेगी हरी झंडी? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने संसद में किया ये बड़ा ऐलान

क्या अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को मिलेगी हरी झंडी? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने संसद में किया ये बड़ा ऐलान

पिछले करीब 2 सालों से कोविड-19 महामारी के कारण, अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर लगे सभी प्रतिबंधों को अब हटा दिया गया है. सोमवार को केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राज्यसभा में इस बात की जानकारी दी है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस बात की घोषणा संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण के प्रश्नकाल के दौरान की.

भारत सरकार ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर 23 मार्च, 2020 को प्रतिबंध लगा दिया था. हालांकि, यह प्रतिबंध केवल एक सप्ताह के लिए लगाया गया था, लेकिन लगातार बढ़ते कोविड-19 मामलों के बीच इस प्रतिबंध की अवधि को बढ़ा दिया गया. वहीं जानकारी के अनुसार, जुलाई 2022 से भारत और लगभग 35 अन्य देशों के बीच विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें संचालित की जाएंगी.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान कहा है, कि “देश में सभी अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाएं 100% क्षमता के साथ 27 मार्च से दोबारा शुरू हो जाएंगी.” इसी के साथ, सरकार के इस कदम से अंतरराष्ट्रीय पर्यटन को बढ़ावा मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. वहीं भारत सरकार को यह उम्मीद है, कि इससे हवाई किराए को कम करने में मदद मिलेगी, जो कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि के कारण बढ़ती जा रही हैं.

खबरों के अनुसार, सरकार ने इससे पहले 15 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की योजना बनाई थी. मगर रूस और यूक्रेन के युद्ध में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए चलाए गए अभियान के कारण इसमें देरी हो गई.

एयरलाइन्स कंपनियों के लिए राहत की खबर

आपको बता दें, कि केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री के इस ऐलान से एयरलाइन्स कंपनियों को राहत मिली है. अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को पूरी क्षमता के साथ दोबारा शुरू करने का सीधा मतलब है, कि एयरलाइन्स कंपनियां बड़े देशों में अपनी विमान सेवाएं दे पाएंगी. इसके अलावा, एयरलाइन्स कंपनियां अपने राजस्व में भी सुधार कर पाएंगी, क्योंकि घरेलू मार्गों की तुलना में अंतरराष्ट्रीय क्षेत्रों में किराया अधिक होता है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com