Manohar Parrikar Death Anniversary: सरलता और सादगी से भरा था भारत के पूर्व रक्षा मंत्री का जीवन

Manohar Parrikar Death Anniversary: सरलता और सादगी से भरा था भारत के पूर्व रक्षा मंत्री का जीवन

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी(BJP) के दिग्गज नेता मनोहर पर्रिकर (Manohar Parrikar) की आज तीसरी पुण्यतिथि है. उनका निधन वर्ष 2019 की 17 मार्च को हुआ था. वे पहले ऐसे IITian थे, जो किसी राज्य के मुख्यमंत्री बने थे. उनका जीवन बहुत ही सादा और ईमानदारी से भरा था और इसी वजह से वह भारतीय जनता पार्टी के ही नहीं, बल्कि संपूर्ण गोवा राज्य के लोकप्रिय नेता थे. उनका निधन पेनक्रिएटिक कैंसर की वजह से हुआ था और बीमारी के बावजूद भी उन्होंने अपने मुख्यमंत्री पद की सभी जिम्मेदारियां बखूबी निभाई थीं.

भारतीय जनता पार्टी के नेता किरण रिजिजू, जीके रेड्डी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के माध्यम से पोस्ट की है तथा उनकी पुण्यतिथि पर उनको याद किया है.

अगर उनके जीवन की बात करें, तो मनोहर पर्रिकर का पूरा नाम मनोहर गोपालकृष्ण प्रभु पर्रिकर था. उनका जन्म वर्ष 1955 में 13 दिसंबर को हुआ था. वर्ष 2000 में उन्हें गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया था. इसके उपरांत वर्ष 2012 तथा 2014 में, वे दोबारा से गोवा के मुख्यमंत्री चुने गए थे. वर्ष 2014 के नवंबर में, मनोहर पर्रिकर ने मोदी(Modi) सरकार की केंद्रीय कैबिनेट में रक्षा मंत्री का पद संभाला था. संसद में उनकी एंट्री राज्यसभा से ही हुई थी.

उनका जीवन सादगी, ईमानदारी और कुशल नेतृत्व से पहचाना जाता था. बतौर रक्षा मंत्री, वह हमेशा बेहतरीन मंत्री रहे हैं. अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला जांच से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक तक उन्होंने केंद्र सरकार के बहुत से अहम फैसलों में मुख्य भूमिका निभाई है.

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि विपक्षी दल, सरकार के नेताओं को पसंद नहीं करते. लेकिन, अगर हम मनोहर पर्रिकर के बारे में बात करें, तो उनके लिए यह कहना बिल्कुल गलत था. क्योंकि, अपनी ईमानदारी की वजह से वह विपक्ष के भी काफी प्रिय नेता थे. वर्ष 2017 में जब गोवा विधानसभा चुनाव हुए, तो भारतीय जनता पार्टी को बहुमत नहीं मिल पाया था. गठबंधन के लिए दूसरे दलों से बातचीत चल रही थी, तब सीएम पद के उम्मीदवार के तौर पर दलों ने मनोहर पर्रिकर का नाम लिया था. उस समय मनोहर पर्रिकर को रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. उस समय वह चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री चुने गए थे.

आज भी उनकी पुण्यतिथि के मौके पर गोवा के मौजूदा मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत( Pramod Sawant) और विभिन्न मंत्रियों ने उनकी मूर्ति पर माल्यार्पण किया है. सिर्फ़ नेता ही नहीं, आज उनकी पुण्यतिथि पर हर भारतवासी उनको याद कर रहा है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com