Global Technology Summit 2022: एस जयशंकर ने कहा, “प्रौद्योगिकी देश के लिए ज़रूरी”

Global Technology Summit 2022: एस जयशंकर ने कहा, “प्रौद्योगिकी देश के लिए ज़रूरी”

Image Source

देश की राजधानी दिल्ली में मंगलवार से 7वें वैश्विक प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन (Global Technology Summit 2022) की शुरुआत हो गई. इस मौके पर उद्घाटन सत्र का भाषण देते हुए, भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने, सम्मेलन में हिस्सा ले रहे सभी प्रतिभागियों से बात की. सभी प्रतिभागियों से बात करते हुए, उन्होंने प्रौद्योगिकी के विकास को देश के लिए काफ़ी अहम और फायदेमंद भी बताया.

दरअसल, दिल्ली में आयोजित इस कार्यक्रम में विदेश मंत्री डॉ सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने देश की प्रगति से जुड़े कई अलग-अलग विषयों पर अपना पक्ष रखा. उन्होंने कहा, “हम इस बात को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते, कि बीते कुछ सालों में भारत के विकास में, प्रौद्योगिकी का एक अहम योगदान रहा है. प्रौद्योगिकी आज दुनिया के भू-राजनीति का केंद्रबिंदु बन चुका है, तभी इस सम्मेलन का विषय भी ‘प्रौद्योगिकी की भू-राजनीति’ (Geopolitics of Technology) ही रखा गया है.” वहीं प्रौद्योगिकी के विकास की सराहना करते हुए एस जयशंकर ने यह भी कहा, कि मुझे लगता है, कि हम बहुत जल्द प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत की विश्वसनीयता से जुड़ी अच्छी खबरें सुनेंगे.”

वहीं डेटा की सुरक्षा के मामले में अपना पक्ष रखते हुए एस जयशंकर का कहना था, कि “डेटा की सुरक्षा अब राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय बन चुका है. सभी देशों को अपने-अपने डेटा की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े निर्णय लेने की ज़रूरत है, वरना इसका प्रभाव प्रौद्योगिकी पर भी देखने को मिलेगा.” उन्होंने इस बात पर भी ज़ोर दिया, कि आज की तारीख में डेटा, विकास की गाड़ी का एक नया ईंधन बन गया है और हमें भी इसे लेकर अपना दृष्टिकोण बदलना होगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि वैश्विक प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन के मेजबानी विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) करती है. वहीं इस वर्ष इस सम्मेलन के लिए करीब 5000 प्रतिभागियों ने पंजीकरण करवाया. साथ ही, कार्नेगी इंडिया (Carnegie India) के आधिकारिक यूट्यूब चैनेल के लाइव प्रसारण की मदद से, कई लोग इस कार्यक्रम का हिस्सा बन पाएंगे. यह कार्यक्रम तीन दिन तक चलेगा और इस दौरान यहाँ प्रौद्योगिकी के अलावा भी सुरक्षा, अंतरिक्ष, स्टार्टअप और कानून से जुड़े पहलुओं पर भी चर्चा होगी.

यह भी पढ़ें: WhatsApp Data Leak: 50 करोड़ यूजर्स में कहीं आप भी तो नहीं? ऐसे करें चेक

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com