Russia-Ukraine War: क्या होगा इस युद्ध का परिणाम

Russia-Ukraine War: क्या होगा इस युद्ध का  परिणाम

रूस-यूक्रेन (Russia-Ukraine) के बीच युद्ध छिड़े हुए 58 दिन हो गए हैं, लेकिन कोई भी देश पीछे हटने को तैयार नहीं है. युद्ध से दोनों देशों में जान माल का काफ़ी नुकसान पहुंचा है. वहीं, अब रूस ने भी मान लिया है, कि युद्ध में उसके हजारों सैनिक मारे गए हैं. कई तरह के आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंधों के बावजूद भी रूस इस युद्ध से पीछे हटने को तैयार नहीं है.

ऐसे में अब यह माना जा रहा है, कि इस युद्ध के परिणाम काफ़ी खतरनाक साबित हो सकते हैं. तो आइए जानते हैं, कि इस युद्ध की जड़ और इसके परिणाम क्या होंगे.

रूस-यूक्रेन युद्ध की जड़

गौरतलब है, कि रूस यूक्रेन युद्ध की असली वजह उत्तर अटालांटिक संधि संगठन (नाटो) को माना जा रहा है. दरअसल, रूस शुरुआत से ही नाटो के विस्तार का विरोध करता आया है. वहीं, यूक्रेन ने नाटो में जाने की इच्छा जताई थी, जिस पर भी रूस ने खिलाफत की थी. इसके अलावा, रूस ने यूक्रेन को चेतावनी दी थी, कि अगर वह नाटो में शामिल होता है, तो उसे बुरे परिणाम भुगतने पड़ेंगे. लेकिन यूक्रेन ने रूस की धमकी को नजरअंदाज करते हुए, नाटो में शामिल होने की इच्छा जताई थी. इसी वजह को रूस और यूक्रेन विवाद की जड़ माना जा रहा है.

क्या होगा इस युद्ध का परिणाम

हालांकि, यह तो नहीं कह सकते हैं, कि ये युद्ध कब ख़त्म होगा. लेकिन यह तय है, कि इस युद्ध के परिणाम बेहद बुरे होंगे और इन दो देशों को ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया को इसका अंजाम भुगतना होगा. इस युद्ध में अभी तक दोनों देशों को काफ़ी नुकसान झेलना पड़ा है.

रूस पर युद्ध के परिणाम

युद्ध की शुरुआत करने वाले रूस ने यह कभी नहीं सोचा था, कि यह युद्ध इतना लम्बा खींच जाएगा. एक रिपोर्ट के मुताबिक, रूस को युद्ध में हर दिन हजारों करोड़ों रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है. दूसरी ओर, कई देशों और राजनीतिक मंचो ने रूस पर कई तरह के आर्थिक प्रतिबंध लगा दिये हैं. जिस वजह से रूस के साथ कई देशों ने अपने व्यापारिक संबंध ख़त्म कर दिए हैं.

ऐसे में यह माना जा रहा है, कि युद्ध के बाद रूस की आर्थिक हालत काफ़ी ज्यादा खराब होने वाली है. वहीं, राजनीतिक विश्लेषक के मुताबिक, अगर रूस अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है, तो युद्ध के बाद, रूस दुनिया से अलग-थलग पड़ा नजर आ सकता है.

यूक्रेन पर युद्ध के परिणाम

यूक्रेन की बात की जाए, तो यूक्रेन को इस युद्ध में काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है. अब तक सामने आई तस्वीरों के मुताबिक, इस युद्ध में यूक्रेन के कई सैनिक और लोग मारे गए हैं. वहीं, देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था को भी काफ़ी नुकसान पहुंचा है. युद्ध के बाद, परिणाम की बात की जाए, तो राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है, कि यूक्रेन को इस युद्ध के बाद अपनी आर्थिक स्थिति से उबरने में काफ़ी वक्त लगेगा.

इसके अलावा, युद्ध के बाद, वैश्विक अर्थव्यवस्था में काफ़ी उथल-पुथल दिखाई दे सकती है, जिससे महंगाई और ज्यादा बढ़ने की संभावना है. वहीं, कई देशों के व्यापारिक संबंधों में भी असर दिखाई दे सकता है.

Related Stories

No stories found.