BCCI दे सकता है अंडर-23 खिलाड़ियों को ‘द हंड्रेड’ में खेलने की मंजूरी

MUMBAI, INDIA  JULY 19: A view of logo of the Board of Control for Cricket in India (BCCI) during a Council meeting of the Indian Premier League (IPL) at BCCI headquarters on July 19, 2015 in Mumbai, India. (Photo by Aniruddha Chowhdury/Mint via Getty Images)
MUMBAI, INDIA JULY 19: A view of logo of the Board of Control for Cricket in India (BCCI) during a Council meeting of the Indian Premier League (IPL) at BCCI headquarters on July 19, 2015 in Mumbai, India. (Photo by Aniruddha Chowhdury/Mint via Getty Images)

अभी तक इसके लिए अंडर-23 खिलाड़ियों में कैप्ड, अनकैप्ड और राष्ट्र ड्यूटी पर ना होने वाले खिलाड़ियों पर विचार किया जा रहा है

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI ) साल 2022 से अंडर-23 खिलाड़ियों को 'द हंड्रेड' में खेलने की मंजूरी देने पर विचार कर रहा है। यह फैसला इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI ) मिलकर विचार करेंगे। 

'द हंड्रेड' सीजन की शुरुआत जुलाई में होने वाली थी, लेकिन बढ़ते कोरोना मामलों और कम समय के चलते ECB और BCCI, दोनों ही बोर्डों ने इसे टालने का निर्णय लिया है। अभी तक,इस सीजन में खेलने वाले अंडर-23 खिलाड़ियों में कैप्ड, अनकैप्ड और राष्ट्र ड्यूटी पर ना होने वाले खिलाड़ियों पर विचार किया जा रहा है।

वहीं अगर इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI ) के विचार इस पर अभी या अगले साल तक मिलते हैं, तो सूत्रों के अनुसार, 'BCCI कुछ भारतीय क्रिकेटरों को द हंड्रेड में खेलने की अनुमति दे सकता है'।

अगर ऐसा कभी भी होता है तो यह भारतीय क्रिकेट बोर्ड के लिए एक बड़ा कदम होगा, जो अपने सक्रिय खिलाड़ियों को विदेश में खेलने की अनुमति देने से बच रहे थे। भारतीय क्रिकेट बोर्ड अपने खिलाड़ियों को IPL के कारण विदेशी लीग में खेलने की अनुमति नहीं देता है।

एक अधिकारी ने बताया, 'यह भविष्य में IPL के लिए BCCI का सबसे बड़ा बदलाव साबित होगा'। इसका निर्णय  BCCI के सभी सदस्यों की एसोसिएशन द्वारा किया जाएगा।

सवाल यह है की यह एक्सेप्शन सिर्फ इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) के लिए ही क्यों है? क्योंकि IPL को अब विस्तार करने की जरूरत है, इसमें 8 टीमों की संख्या को बढ़ाकर 10 टीम किया जाएगा, जिससे कि और ज्यादा मैच खेले जा सकेंगे और IPL को एक बड़ी विंडो भी मिलेगी।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI ), IPL के लिए मार्च का महीना चुनने में इच्छुक है, जब नए फ्यूचर टूर प्रोग्राम (FTP) लागू होते हैं। इस कारण के चलते, अन्य क्रिकेट बोर्डों को भारत से विचार मिलाने की जरूरत होगी। इसमें  आगे जाने का एकमात्र तरीका क्विड- प्रो- क्वो(quid pro quo) है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com