Yogi Adityanath: प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की हालत सुधारने के दिए निर्देश, लोगों को करना पड़ रहा था परेशानियों का सामना
Uttar Pradesh state chief Minister Yogi AdityaNath (C) speaks during his one day visit , ahead of Ardh Kumbh Mela , in Allahabad on January 5, 2019. (Photo by Ritesh Shukla ) (Photo by Ritesh Shukla/NurPhoto via Getty Images)

Yogi Adityanath: प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की हालत सुधारने के दिए निर्देश, लोगों को करना पड़ रहा था परेशानियों का सामना

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की सुध लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) ने कड़ा रुख अपनाया है। योगी आदित्यनाथ ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की हालत सुधारने के लिए चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं।

उत्तर प्रदेश की खस्ताहाल स्वास्थ्य व्यवस्था पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कड़ा रुख अपना लिया है। उत्तर प्रदेश के बदहाल पड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की सुध लेते हुए योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) ने निर्देश जारी कर दिए हैं। योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में तुरंत चिकित्सकों की तैनाती के आदेश दिए हैं।आपको बता दें कि हाल के दिनों में प्रदेश के बंद पड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की खबर सामने आई थी। गांवों में लोगों को उचित स्वास्थ्य सेवाएं ना मिलने के कारण दर दर भटकना पड़ रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश के गांवों में कोविड-19(Covid-19) के संक्रमितों की संख्या में तेजी आई है। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री(Yogi Adityanath) ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों से संबंधित निर्देश, प्रदेश के समस्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों को जारी किए हैं। निर्देशानुसार, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (PHC) के समस्त उपकरण चालू करने और भवन की रंगाई पुताई करने के आदेश दिए गए हैं। साथ ही PHC में डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ की मौजूदगी सुनिश्चित करने के भी आदेश दिए गए हैं। 

सरकार की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि अगर PHC के लिए पर्याप्त संख्या में एमबीबीएस डॉक्टर उपलब्ध न हो तो आयुष के चिकित्सकों की तैनाती की जाए। सारे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों(PHC) पर कोविड 19 के एंटीजन टेस्ट की सुविधा उपलब्ध कराई जाए और साथ ही ओपीडी   कोविड प्रोटोकॉल के साथ खुली रखनी चाहिए। 

मुख्यमंत्री ने प्रेसवार्ता में कहा कि मैंने सभी जनप्रतिनिधियों से अपील की है कि वह कम से कम एक CHC या PHC को गोद लेकर वहां की एक्टिविटी के साथ जुड़ें। जिससे हर व्यक्ति को हम बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवा सकें।इस दिशा में प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। 

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की बात करें तो पिछले 24 घण्टे में 3723 नए मामले सामने आए हैं। पिछले एक महीने में प्रदेश में संक्रमण में 90 प्रतिशत तक की कमी देखी गई है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com