WhatsApp New Update: Google Pay की राह पर कंपनी, लाॅंच किया ये शानदार फीचर

WhatsApp New Update: Google Pay की राह पर कंपनी, लाॅंच किया ये शानदार फीचर

भारत में WhatsApp सबसे लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप की श्रेणी में शुमार है. जहां आमतौर पर लोग इसका इस्तेमाल चैटिंग, ऑडियो और विडियो काल करने के लिए करते हैं. लेकिन हाल ही में लाॅंच हुए इसके भुगतान फीचर को भी लोगों ने बहुत सराहा. इस फीचर के माध्यम से पैसों का लेनदेन काफी आसान हो गया है. वहीं आज लाॅंच हुई अपडेट की बात करें, तो अब यूज़र्स इसमें UPI भुगतान करते वक्त बैकग्राउंड भी जोड़ सकते हैं.

क्या है WhatsApp का नया फीचर?

WhatsApp ने अपने भुगतान के फीचर में एक नई सुविधा जोड़ी है. जहां भारत में WhatsApp यूज़र्स अब पैसों के लेनदेन में भुगतान बैकग्राउंड भी शामिल कर सकेंगे. इससे पैसा भेजते वक्त व्यक्ति का भावनाओं को व्यक्त करना आसान हो जाएगा. उदाहरण के लिए ऐसे समझें, कि अगर कोई यूज़र रक्षाबंधन या जन्मदिन के उपलक्ष्य में कोई भुगतान करेगा, तो अब वह उसके अनुसार बैकग्राउंड जोड़ सकता है.

इस नए फीचर पर कंपनी ने बयान दिया है कि, "हम समझते हैं कि पैसों का लेनदेन सिर्फ पैसा भेजना और प्राप्त करना नहीं होता. अक्सर इनके पीछे कुछ अनमोल कहानियां भी होती हैं. हमारा लक्ष्य है कि हम WhatsApp पर भुगतान को और दिलचस्प बनाएं. साथ ही हम उपभोक्ताओं को और अधिक सुविधाएं देने के लिए भी प्रयासरत हैं."

Google pay से समानता

भारत में ऑनलाइन भुगतान के क्षेत्र में Google pay (Gpay) एक अहम नाम है. जो सुविधाजनक भी है और सुरक्षित भी. इसका भुगतान बैकग्राउंड फीचर काफी हद तक WhatsApp के इस फीचर से मेल खाता है. जहां पैसों का लेनदेन करते वक्त यूज़र कंपनी द्वारा दिए गए विकल्पों में से एक बैकग्राउंड चुन सकते हैं. कहा यह भी जा रहा है, कि कंपनी सीधे तौर पर Paytm, PhonePe, Gpay आदि भुगतान संबंधित कंपनियों से प्रतिस्पर्धा की तैयारी में हैं. 

Whatsapp Payments को ऐसे समझें

मुख्य रूप से मैसेजिंग ऐप की तरह काम करने वाली कंपनी WhatsApp भुगतान की सुविधा भी दे रही है. इसके लिए कंपनी को नवंबर 2020 में National Payments Corporation Of India (NPCI) से मंज़ूरी मिली थी. इसके रियल टाइम भुगतान सिस्टम से उपभोक्ताओं को 227 बैंकों के साथ लेनदेन में मदद मिलती है. आपको बता दें, कि WhatsApp ऐप Facebook के मालिकाना हक वाली एक अहम कंपनी है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com