Masked Aadhar: आधार नंबर से होने वाली ठगी से यूँ बचें

Masked Aadhar: आधार नंबर से होने वाली ठगी से यूँ बचें

आधार (Aadhar) हर एक भारतीय के पास जरूरी रूप से होने वाला एक दस्तावेज है. वैसे तो, आधार कार्ड होने के बहुत से फायदे हैं. कभी बैंक, तो कभी वैक्सीन लगवाने, और यहाँ तक कि छोटे से छोटे जरूरी काम में आधार कार्ड काम आता है. लेकिन इसके साथ ही, आधार कार्ड पर सबको आराम से दिख जाने वाले आधार नंबर के कुछ नुकसान भी हैं. इसके चलते, आपके साथ कई धोखाधड़ी और ठगी हो सकती है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि आधार नंबर के जरिए कोई भी व्यक्ति आपकी निजी जानकारी बिना आपकी मर्जी के पता कर सकता है. जिसके चलते कई ठगी के मामले आए दिन आते रहते हैं. लेकिन, UIDAI की वेबसाइट के अनुसार, यदि आप चाहें तो अपने आधार कार्ड पर आधार नंबर को छुपा सकते हैं. ऐसा करने के लिए, आप VID या मास्कड आधार (Masked Aadhar) का इस्तेमाल कर सकते हैं. मास्कड आधार या वीआईडी ​​एक 16-अंकीय आईडी नंबर है. इस नंबर को आप अपनी निजी जानकारी बताए बिना दूसरों के साथ साझा कर सकते हैं। इस तरह से, आपके आधार कार्ड को सुरक्षित रखने में बेहद मदद मिलती है.

VID या मास्कड आधार कैसे डाउनलोड करें?

सबसे पहले आपको UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है. वहाँ जाकर आपको बस अपना आधार नंबर डालना है. वहाँ, आप अपना आधार नंबर डालें और 'मुझे एक मास्कड आधार चाहिए' के ऑप्शन पर टिक कर दें. ऐसा करने के बाद, आपको कैप्चा कोड भरना है और 'सेंड ओटीपी' पर क्लिक कर दें. ऐसा करते ही, आपके पास e-aadhar डाउनलोड करने का ऑप्शन आ जाएगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि इस e-aadhar की कॉपी पर आपका आधार नंबर छुपा हुआ होगा. इसमें केवल आपके आधार नंबर के आखिरी के 4 अंक दिए गए होंगे.

आपको बता दें, कि आप इस मास्कड आधार या VID का प्रयोग कभी भी और कितनी भी बार कर सकते हैं. ऐसे में, आपको अपना आधार नंबर सबको बताने की जरूरत नहीं होगी और आप ठगी से बच सकेंगे.

Related Stories

No stories found.