Bihar News: Lalu Yadav की घर वापसी पर हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा, रूठे Tej Pratap ने दिया धरना

Bihar News: Lalu Yadav की घर वापसी पर हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा, रूठे Tej Pratap ने दिया धरना

Bihar के पूर्व मुख्यमंत्री Lalu Prasad Yadav, बड़े लंबे अरसे बाद Bihar लौटे हैं. वहीं उनके आगमन के बाद परिवार का सियासी विवाद सड़क पर आ गया है. दरअसल, उनके बड़े बेटे Tej Pratap Yadav की ज़िद थी, कि Lalu Yadav उनके आवास पर आएं, लेकिन Lalu सीधा Rabri Devi के आवास पर चले गए. इसके बाद, Tej Pratap रूठ गए और अपने ही घर के बाहर धरने पर बैठ गए.

हालांकि, उन्होंने Rabri Devi के आवास पर जाकर Bihar लौटे अपने पिता से मुलाकात की थी. लेकिन अपने पिता से मुलाकात के बाद वह बाहर आए और अपने सरकारी आवास पर जाकर धरना शुरू कर दिया. इसके साथ ही, उन्होंने छात्र जनशक्ति परिषद के कार्यकर्ताओं के साथ, खूब नारेबाज़ी की. आखिरकार, जब Lalu Prasad Yadav और Rabri Devi उनके आवास पर आए, तब जाकर Tej Pratap ने धरना समाप्त किया. हालांकि, Lalu Yadav गाड़ी में ही बैठे रहे और वहीं से वापस चले गए. Tej Pratap ने Lalu Yadav के पैर पानी से धोए और कुछ देर कार में बैठकर उनसे बातचीत की. आपको बता दें, कि इससे पहले भी Tej Pratap की कई हरकतों ने परिवार में तहलका मचा दिया था. 

Tej Pratap Yadav ने रविवार को एक मीडिया चैनल को बयान दिया था, कि "मुझे Rabri आवास पर जाने से रोक दिया गया. मैं पिता, Lalu Prasad Yadav को अपने आवास पर ले जाना चाहता था, लेकिन उन्हें मेरे साथ जाने नहीं दिया गया. आज खुशी का बहुत बड़ा मौका था, लेकिन ऐसी स्थिति में भी हमारी बेइज्ज़ती की गई. राजद में कुछ लफंगे लोग भर गए हैं, जो उन्हें पार्टी में पीछे कर रहे हैं. जब तक जगदानंद सिंह जैसे लोग पार्टी में हैं, मुझे राजद से कोई वास्ता नहीं है. मैं जल्द ही इस पर बड़ा फैसला लेने वाला हूं." 

Tej Pratap Yadav कई बार पार्टी के विरुद्ध जाकर बयान दे चुके हैं, कई बार उनके बयानों ने Bihar में राजनीतिक भूचाल ला दिया था. हालांकि, राजनीतिक जानकारों की माने, तो यह यह जंग Lalu Yadav के दोनों बेटों के बीच है. ऐसा माना जा रहा है, कि Tej Pratap Yadav अपने छोटे भाई Tejashwi Yadav के बढ़ते प्रभाव के बीच, खुद को छोटा महसूस करने लगे हैं. उन्हें यह लग रहा है, कि राजनीति में उनका वर्चस्व खत्म हो रहा है. Tej Pratap ने भी कई बार खुद इन बातों का ज़िक्र किया है, कि पार्टी में उनके फैसले को नही़ माना जा रहा है. वहीं अब Bihar में Lalu Prasad के आगमन के बाद, उन्हें नई उम्मीद दिखाई दी रही है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com