शिलांग तीर लॉटरी के दोनों चरणों का नतीजा आधिकारिक वेबसाइट पर जारी होगा। दोनों चरणों के नतीजे अलग-अलग आएँगे। पहले चरण का नतीजा 4:15 एवं दूसरे चरण का नतीजा 5:15 पर जारी होगा।

शिलांग तीर लॉटरी के दोनों चरणों का नतीजा आधिकारिक वेबसाइट पर जारी होगा। दोनों चरणों के नतीजे अलग-अलग आएँगे। पहले चरण का नतीजा 4:15 एवं दूसरे चरण का नतीजा 5:15 पर जारी होगा।

शिलांग तीर लॉटरी के दोनों चरणों का नतीजा आधिकारिक वेबसाइट पर जारी होगा। दोनों चरणों के नतीजे अलग-अलग आएँगे। पहले चरण का नतीजा 4:15 एवं दूसरे चरण का नतीजा 5:15 पर जारी होगा।

12 अप्रैल को खेले जाने वाले शिलांग तीर लॉटरी का नतीजा शाम में जारी होगा। विजेताओं की सूची खासी हिल आर्चरी स्पोर्ट्स एसोसिएशन द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर जारी होगा। अगर आपको भी बेताबी से नतीजों का इंतजार है तो आधिकारिक वेबसाइट से नतीजे ज्ञात कर सकते हैं। आधिकारिक वेबसाइट है –

चलिए थोड़ा विस्तार से समझते हैं किस तरह से होता है लॉटरी का यह अनोखा खेल। बाकी जगहों पर लॉटरी के खेलों का नतीजा ड्रॉ के द्वारा निकाला जाता है। पर शिलांग तीर लॉटरी में सब कुछ आपके अनुमान और तीर के निशाने पर निर्भर करता है। 

इस तरह से होता है लॉटरी का यह खेल- 

  • तीरंदाजी का खेल पोलो ग्राउंड पर आयोजित किया जाता है। 12 क्लब इस खेल में भाग लेते हैं। लॉटरी के टिकट खरीदने वालों में से वह विजेता होता है जो उस तीर का आखरी दो संख्या सही अनुमान करता है जो तीर निशाने पर जाकर लगती है।
  • पहले चरण में अधिकतम 30 तीर निशाने पर साधे जाते हैं एवं दूसरे चरण में अधिकतम 20 तीर निशाने पर साधे जाते हैं। निशाने पर 15.21 से 30.48 मीटर की दूरी से तीर मारा जाता है। यह सारा घटनाक्रम 5 मिनट के अंदर घटता है।
  • शिलांग तीर लॉटरी में जीतने के लिए हिस्सा लेने वालों को 0 से 99 के बीच किसी संख्या का चुनाव करना होता है, उस तीर की पूरी संख्या अनुमान करने के लिए जो निशाने पर सटीक लगती है।

आमतौर पर पहले चरण में सही अनुमान करने वालों को हर Rs 1 के सट्टा पर Rs 80 मिलते हैं। एवं दूसरे चरण में हर Rs 1 के सट्टा पर Rs 60 मिलते हैं।

इस तरह ज्ञात करे लॉटरी का परिणाम-

  • सबसे पहले दिए गए आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • फिर शिलांग तीर लॉटरी के नाम और आज की तारीख वाली लिंक पर किल्क करें।
  • एक नए पेज पर शिलांग तीर लॉटरी के विजेताओं का नाम आपके समक्ष होगा।

मेघालय में लॉटरी के खेल 1982 से चल रहे हैं। लॉटरी के खेल 1982 में सरकार द्वारा मेघालय अम्यूजमेंट्स एंड बेटिंग टैक्स एक्ट लागू करने के पश्चात से लीगल हुए हैं। इसके अलावा 12 अन्य राज्यों में लॉटरी के खेलों के आयोजन की अनुमति सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रदान की गई है।

Tags : शिलांग, मेघालय अम्यूजमेंट्स एंड बेटिंग टैक्स एक्ट, तीरंदाजी, तीर लॉटरी, मेघालय, शिलांग तीर लॉटरी
यह भी पढ़ें : शिलांग तीर लॉटरी का नतीजा 10 अप्रैल 2021

Disclaimer

देश के किसी भी व्यक्ति को सट्टा गेम खेलने की अनुमति नहीं दी गई है। यदि कोई व्यक्ति कानून को हाथ में लेकर रसायन का प्रयोग करता है।, तो उस व्यक्ति को 1 साल की सजा और Rs 1000 का जुर्माना हो सकता है। hindustanreads.com इस प्रकार से सट्टा और जुआ गेम का समर्थन नहीं करती हैं। यह आर्टिकल सिर्फ जानकारी के लिए दर्शाया गया है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com