Shiba coin news: शीबा इनु एफ.टी.एक्स और बिनांस पर हुआ सूचीबद्ध, भाव छू रहा है आसमान।

Shiba coin news: शीबा इनु एफ.टी.एक्स और बिनांस पर हुआ सूचीबद्ध, भाव छू रहा है आसमान।

शीबा इनु के एफ.टी.एक्स और बिनांस पर सूचीबद्ध होते ही उसके भाव में जबरदस्त तेजी आई है। भाव मे 1500% तक का उछाल।

आज कल बहुत से निवेशकों को बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी ने अपनी तरफ आकर्षित किया है। बिनांस ने अपने विस्तार इनोवेशन के क्षेत्र में किया है, लेकिन इसमें व्यापार करने के लिए कुछ सीमाएं मौजूद है। एफटीएक्स ने अपने आपको एक पूर्ण विकसित क्रिप्टोकरेंसी रूप में शामिल किया, जिसमें स्पॉट मार्केट और ट्रेडिंग करने के लिए फीचर्स शामिल है। शीबा इनु, एक एथेरियम आधारित मेम कॉइन है,  जो आने वाले समय का डॉगकॉइन साबित हो सकता है। इस क्रिप्टो करेंसी की मार्केट परफॉर्मेंस को देखकर, हाल ही में इसको एफ.टी.एक्स और बिनांस में सूचीबद्ध किया गया है।

क्रिप्टोकरेंसी के जगत में शीबा इनु ने पिछले दिनों 1500% तक का उछाल देखा है। यदि सिर्फ पिछले महीने की कमाई देखें तो इस क्रिप्टोकरेंसी ने लगभग 40000% तक का उछाल देखा है। इस क्रिप्टोकरेंसी में इतना उछाल आने के बावजूद भी यह निवेशकों के लिए काफी आकर्षक बना हुआ है। शीबा इनु कॉइन्स की शुरुआत वर्ष 2020 के अगस्त में हुई थी। शुरुआत में यह लगभग 1,000,000,000,000,000 की मार्केट कैप समेटे हुए थी। खुदको और ज्यादा विकसित और वैलिड बनाने के मकसद से एक बहुत ही अहम कदम उठाया गया। इन्होंने इश्यू किए गए कॉइन्स  का 50% ब्यूटरिंन विटालिक को दे दिया  जो एथेरियम के उत्पादक हैं। इस वक्त इनके पास 8 बिलियन डॉलर की एथेरियम करेंसी है।  50% के शीबा इनु पॉइंट आने के बाद इनके पास शीबा इनु कॉइंस की मात्रा एथेरियम से भी ज्यादा है।

बिनांस में शिबा इनु को सूचीबद्ध करने के बाद, इसके सीईओ चांगपेंग झाओ को लोगों की कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है।लोगों का मानना ​​है कि इस क्रिप्टोकरेंसी को ऐसा करने की अनुमति देना, डॉग कॉइन का रिपॉफ है।

झाओ ने इन सभी प्रतिक्रियाओं का जवाब देते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया कि," हम यूजर्स को फॉलो करते हैं। बड़ी संख्या में उपयोगकर्ता इसकी मांग कर रहे हैं, इस वक़्त हम उस मुकाम पर है जहां हम आज SHIB के कारण ETH की कमी हो रही है। किसी भी अन्य ERC20 कॉइन के लिए पहले कभी नहीं हुआ। एक्सचेंज केवल यूजर्स का ट्रेड करने वाला प्लेटफॉर्म है किसी भी करंसी में निवेश करने से पहले यूजर्स को खुद रिसर्च करनी चाहिए और फिर ही निवेश करना चाहिए"।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com