Shashi Tharoor: Toolkit मामले में BJP का अगला निशाना,सांसद ने बढ़ाई थरूर की मुश्किलें।

Shashi Tharoor: Toolkit मामले में BJP का अगला निशाना,सांसद ने बढ़ाई थरूर की मुश्किलें।
Author and Congress MP Shashi Tharoor speaks during Jaipur Literature Festival at Diggi Palace in Jaipur, Rajasthan, India, Jan 24,2020. (Photo by Vishal Bhatnagar/NurPhoto via Getty Images)

BJP के सांसद निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey) ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला  को पत्र लिखकर शशि थरूर (Shashi Tharoor) को हटाने की मांग की है। दोनो IT कमेटी  के सदस्य हैं। IT कमेटी  फिलहाल Toolkit मामले की जांच कर रही है। थरूर पर कांग्रेस और राहुल गांधी के कार्य को सिद्ध करने के लिए समिति के गलत इस्तेमाल का आरोप भी लगाया गया है।

BJP के सांसद, निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey) ने शशि थरूर (Shashi Tharoor) को हटाने की मांग की है। शशि थरूर (Shashi Tharoor), संसद की IT कमेटी  के अध्यक्ष हैं। निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey) ने लोकसभा स्पीकर, ओम बिरला को पत्र लिखकर कहा कि शशि थरूर (Shashi Tharoor) अपने पद का इस्तेमाल प्रधानमंत्री की छवि खराब करने के लिए कर रहे हैं। 

BJP के सांसद ने अपने पत्र में लिखा है कि,"उन्होंने शालीनता की हर सीमा लांघ दी है। संसदीय समिति के अध्यक्ष के पद पर बैठे हुए व्यक्ति से ऐसे आचरण की अपेक्षा नहीं की जाती है।"

इसके साथ ही उन्होंने ओम बिरला को यह भी लिखा,"मैं आपसे शशि थरूर (Shashi Tharoor) को अयोग्य ठहराने की प्रक्रिया की शुरुआत करने की मांग करता हूं।"

नीलकांत बख़्शी ने ट्वीट करके इस पत्र की जानकारी दी। 

आपको बता दें कि Toolkit मामले में एक तरफ जहां BJP, कांग्रेस के खिलाफ हमलावर है, वहीं जब से ट्विटर ने संबित पात्रा के ट्वीट को Manipulated Media घोषित किया है, तब से कांग्रेस भी BJP पर पलटवार करने से नहीं चूक रही है।

दोनों हीं नेता IT कमेटी  के सदस्य हैं। बीते दिनों ट्विटर पर कार्रवाई को लेकर शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने IT MINISTRY से जवाब मांगा है। निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey) ने यह भी कहा कि IT कमेटी  के जरिए थरूर केवल कांग्रेस और राहुल गांधी का कार्य सिद्ध कर रहे हैं। वहीं थरूर ने भी ट्वीट करके अपनी राय रखी है।

यह इन दोनों के बीच झगड़े का पहला मामला नहीं है, पिछले साल भी कुछ मामलों में इन दोनों का टकराव हुआ था। 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com