Reliance Infratel से फ्रॉड का ठप्पा हटाएगी SBI, अनिल अंबानी को बड़े भाई के कारण मिली बड़ी राहत

Reliance Infratel से फ्रॉड का ठप्पा हटाएगी SBI, अनिल अंबानी को बड़े भाई के कारण मिली बड़ी राहत
Anil Ambani, chairman of Reliance Group, arrives at company's annual general meeting in Mumbai, India, on Monday, Sept. 30, 2019. Five companies of the Ambani-led Reliance Group are holding their annual general meetings against the backdrop of debt-related concerns at key firms of the conglomerate

State Bank of India ने Reliance Infratel पर लगे फ्रॉड को आरोपों को वापस लेने का फैसला लिया है. Mukesh Ambani के Jio द्वारा फ्रॉड के मामले की छानबीन के लिए कोर्ट जाने के बाद, SBI ने यह फैसला लिया है. Reliance Infratel पर लगाये गए फ्राड के आरोपों को वापस लेने के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में SBI ने एफिडेविट दाखिल किया है.

जानकारी के लिए बताते चलें कि, मुकेश अम्बानी की टेलिकॉम कंपनी Jio, Reliance Infratel की खरीदने की तैयारी में है. मुकेश अम्बानी और अनिल अंबानी की कंपनियों के बीच यह सौदा लगभग ₹4,000 करोड़ में तय हो रहा है. लेकिन Reliance Infratel पर लगा फ्रॉड का ठप्पा डील में रोड़ा अटका रहा था. इस फ्रॉड की छानबीन के लिए जब Jio ने कोर्ट का रुख किया तो SBI ने फ्रॉड का टैग वापस लेने का फैसला किया है.

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार बैंक को डर है कि रिलायंस इंफ़्राटेल पर लगे फ्रॉड टैग के कारण जिओ डील से पीछे हट सकती है. ₹4,000 करोड़ की इस डील के कैंसिल होने पर SBI को जो थोड़े बहुत रकम वापस मिलने की उम्मीद है वह भी खत्म हो जाएगी. इसीलिए SBI ने National Company Law Tribunal (NCLT) में जाकर फ्राड टैग वापस लेने का फैसला किया है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com