SAMRIDH Scheme: केंद्र सरकार की इस योजना से मिलेगी 300 स्टार्टअप्स को फंडिंग, यहां जानें किसे मिलेगा फायदा

SAMRIDH Scheme: केंद्र सरकार की इस योजना से मिलेगी 300 स्टार्टअप्स को फंडिंग, यहां जानें किसे मिलेगा फायदा

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को भारतीय सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट स्टार्टअप के लिए एक उत्तम मंच बनाने के लिए SAMRIDH योजना का शुभारंभ किया है. 'Start-up Accelerators of MeitY for Product Innovation, Development and GrowtH (SAMRIDH)' कार्यक्रम से नए व्यापारियों को अपने कारोबार को बढ़ाने में मदद मिल सकेगी.

SAMRIDH कार्यक्रम अगले तीन वर्षों में ग्राहक कनेक्ट, निवेशक कनेक्ट और अंतर्राष्ट्रीय विसर्जन प्रदान करके 300 स्टार्ट-अप को गति देने पर ध्यान केंद्रित करेगा. साथ ही, चुने गए स्टार्ट-अप के वर्तमान मूल्यांकन और विकास के चरण के आधार पर स्टार्ट-अप को ₹40 लाख तक का निवेश प्रदान किया जाएगा. यह नए निवेशक द्वारा समान मिलान निवेश की सुविधा भी प्रदान करेगा. इसमें व्यापार गतिविधियों के लिए 168 बिलियन डॉलर का मूल्यांकन हुआ है. भारतीए स्टार्टअपस को प्रोत्साहन देने के लिए ही इस योजना को शुरू किया गया है.

इस अवसर पर बोलते हुए, अश्विनि वैष्णव जी ने कहा कि केंद्र सरकार की इस पहल से स्टार्ट-अप्स को फंडिंग सपोर्ट तो मिलेगा ही, साथ ही उन्हें एक साथ लाने में भी मदद मिलेगी ताकि वह आपस में मिलकर सफल व्यापार कर सकें. इससे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण को बढ़ावा मिलेगा. यह संपूर्ण विकास के लिए  युवाओं की तकनीक और ऊर्जा का एक बड़ा संभावित स्रोत बन गया है. टेक्नोलोजी में तेज़ी लाने और समाज के तबकों तक पहुंचने में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है. आमतौर पर इसमें कई साल लग जाते. 

स्टार्टअप पावर का इस्तेमाल करके इन क्षेत्रों में महीनों के भीतर पहुंचाया जा सकता है. SAMRIDH जैसी पहल और योजनाएं प्रगति के क्षेत्र में तेज़ी लाने में मदद करेंगी." लॉन्च इवेंट में बोलते हुए, MeitY के सचिव अजय प्रकाश साहनी ने कहा कि SAMRIDH योजना उन स्टार्ट-अप्स को उठाएगी जो शुरआती चरण के लिए तैयार हैं और उन्हें फंडिंग सहायता दी जाएगी. इस स्कीम में उन्हें गाइडेंस और कई अन्य सहूलियत प्रदान करेंगे जो इस स्तर पर स्टार्ट-अप के लिए आवश्यक हैं. यह योजना उन लोगों में विश्वास पैदा करेगी जो स्टार्ट-अप शूरू करने जा रहे हैं. यह हमारी यात्रा में एक बहुत ही महत्वपूर्ण मील का पत्थर है.

यह भी पढ़ें: EPOF-e -Shram:असंगठित कार्यबल को मजबूत करने के लिए आज होगा यह पोर्टल लॉन्च

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com