स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL), सर्वाधिक बाजार पूंजी वाली कंपनियों की टॉप 100 फेहरिस्त में हुई शामिल

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL), सर्वाधिक बाजार पूंजी वाली कंपनियों की टॉप 100 फेहरिस्त में हुई शामिल
BRAZIL - 2020/09/25: In this photo illustration the Steel Authority of India Limited (SAIL) logo seen displayed on a smartphone. (Photo Illustration by Rafael Henrique/SOPA Images/LightRocket via Getty Images)

पिछले डेढ़ महीने में कंपनी के शेयरों में हुई 85 प्रतिशत तक की बढ़त, वित्तीय वर्ष  21 में कमाया 406 करोड़ का मुनाफा

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड ने मंगलवार को एक बार फिर 50,000 करोड़ का बाजार पूंजीकरण हासिल कर लिया। पिछले डेढ़ महीने में कंपनी के शेयरों में 80 प्रतिशत तक का उछाल दर्ज किया गया है। कंपनी को जारी तिमाही में भारी मुनाफे की उम्मीद है, साथ ही आगे भी बेहतर प्रदर्शन की आशा की जा रही है। इसके साथ ही, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) सर्वाधिक बाजार पूंजीकरण वाली कंपनियों की टॉप 100 फेहरिस्त में शामिल हो गई है। मंगलवार को, कंपनी ने 55,529 करोड़ के पूंजीकरण के साथ मार्केट कैप रैंकिंग में 78वां स्थान हासिल किया।

आज मंगलवार को कंपनी के शेयरों में 6 प्रतिशत तक का उछाल दर्ज किया गया। इसके साथ ही कंपनी के शेयरों की कीमत पिछले नौ वर्षों में सर्वाधिक, 135.60 रूपए पर पहुंच गई है। SAIL के शेयरों की कीमतों में पिछले डेढ़ महीने में BSE इंडेक्स में 2.5 प्रतिशत गिरावट के मुकाबले, 85 प्रतिशत तक की बढ़त दर्ज की है। यह जुलाई 2011 के बाद से कंपनी के शेयरों की सर्वाधिक कीमत है। कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2021 की पहली तीन तिमाहियों में 406 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया है, जबकि वित्तीय वर्ष 2020 में, कंपनी तीन तिमाहियों में 704 करोड़ रुपए के घाटे में रही थी। 

कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2021 की अंतिम तिमाही में प्रोडक्शन और सेल्स दोनों ही मामलों में सर्वश्रेष्ठ त्रैमासिक प्रदर्शन किया था। वित्तीय वर्ष  2021 में सेल्स वॉल्यूम 14.87 मीट्रिक टन रहा, जो कि वित्तीय वर्ष  2020 के 14.23 मीट्रिक टन से 4.4 प्रतिशत ज्यादा है, साथ ही यह कंपनी का सर्वश्रेष्ठ सेल्स वॉल्यूम भी है। इस प्रदर्शन पर प्रबंधन का कहना है, कि वित्तीय वर्ष  के शुरुआती महीने बेहद मुश्किल भरे रहे। लेकिन कंपनी ने सकारात्मक और केंद्रित दृष्टिकोण अपनाते हुए वॉल्यूम और क्षमता बढ़ाने पर ध्यान दिया। इसके अलावा, प्लांट की  सुविधाओं को सर्वश्रेष्ठ क्षमता पर संचालित करने के साथ साथ इन्वेंटरी स्तर घटाने पर भी जोर दिया गया। 

SAIL, भारत की सबसे बड़ी स्टील निर्माता कंपनियों में से एक है। कंपनी के पांच प्लांट ( भिलाई, राउरकेला, बोकारो, दुर्गापुर, IISCO), चार राज्यों ( छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, झारखंड और ओडिशा) में स्थित हैं। 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com