Rishad Premji: Wipro की 75वीं बैठक में बोले कंपनी के प्रमुख, कहा ‘वर्क फ्राम होम आज की वास्तविकता’

Rishad Premji: Wipro की 75वीं बैठक में बोले कंपनी के प्रमुख, कहा ‘वर्क फ्राम होम आज की वास्तविकता’

भारत की तीसरी सबसे बड़ी IT कंपनी Wipro की, 75 वीं वार्षिक बैठक, 14 जुलाई 2021 को सम्पन्न हुई है. इस बैठक में, Wipro के प्रमुख, Rishad Premji ने शेयरधारकों से बातचीत की है. उन्होंने कहा, कि कंपनी में काम कर रहे 55% से अधिक कर्मचारियों का टीकाकरण हो चुका है. साथ ही, इस संख्या में रोज बढ़ोत्तरी हो रही है. ये डाटा, भारत में रहने वाले कर्मचारियों का है. 

फिलहाल, मौजूद मीडिया रिपोर्टस के आधार पर Wipro के कुछ 60% कर्मचारी, भारत के बड़े शहरों से हैं. वहीं, 40% ऐसे भी है, जो परिवार के साथ अपने मूल निवास पर रह रहे हैं. बैठक में Wipro की निवेश शाखा, Wipro Ventures के बारे में भी, खास जानकारी पेश की गई है.

बातचीत के दौरान यह बताया गया है, कि इसका पोर्टफोलियो 250 मिलियन डॉलर का है. साथ ही इसने, वैश्विक स्तर पर, 25 कंपनियों में निवेश किया है. बैठक के दौरान, विलय, अधिग्रहण और निवेश पर भी बात हुई है. जिसमें कहा गया है, कि Wipro Ventures के जरिये युवा कंपनियों में निवेश किया जाता है. बजाए इसके, कि युवा कंपनियों का अधिग्रहण या विलय कराया जाए. 

टीकाकरण के सवाल पर Rishad Premji का जवाब

Rishad Premji ने स्पष्ट शब्दों में कहा है की, "कंपनी कर्मचारियों के टीकाकरण करवाने के लिए साथ है. इसके अलावा, कर्मचारियों को टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करने को भी तैयार है".

वर्क फ्राम होम पर कंपनी की प्रतिक्रिया

कंपनी ने इस बात को खुलकर माना है कि, वर्क फ्राम होम एक वास्तविकता बन चुका है. जिसपर, आने वाले समय में और स्पष्टता आनी है. फिलहाल, महामारी के कारण, कंपनी के लगभग 97% कर्मचारी घर से ही काम कर रहे हैं.

बीते दिनों की बात करें, तो Wipro के संस्थापक, Azim Premji खूब चर्चा में थे. उन्होंने, वर्ष 2019 में, एक ऐलान किया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि, उनके पास Wipro के शेयर मौजूद हैं. जिनसे मिलने वाले लाभ का, 67%, वह दान करने में लगाएंगे. इस वर्ष, उनके मार्गदर्शन में, कंपनी ने 18,000 करोड़ रुपये जुटाए हैं. 

आपको बता दें, कि Wipro की कमान, पिछले वर्ष 2019 से Rishad Premji के हाथ में है. वह Azim Premji के बेटे हैं. Azim Premji जिन्हें देश के दानवीर कारोबारियों में शामिल किया जाता है. उन्होंने पिछले साल ही, कंपनी के अपने पद से इस्तिफा दिया है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com