Azam Khan Hate Speech: विधायक के तौर पर अयोग्य घोषित, रामपुर सदर सीट हुई खाली

Azam Khan Hate Speech: विधायक के तौर पर अयोग्य घोषित, रामपुर सदर सीट हुई खाली
Hindustan Times

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) यानी सपा के नेता आजम खान (Azam Khan) को रामपुर सदर (Rampur Sadar) सीट के विधायक के रूप में अयोग्य घोषित कर दिया गया है. वहीं, एक विशेष अदालत ने उन्हें साल 2019 के अभद्र भाषा के मामले में दोषी भी ठहराया है. उत्तर प्रदेश विधानसभा के प्रधान सचिव प्रदीप दुबे (Pradeep Dubey) ने बताया, कि सचिवालय ने रामपुर सदर विधानसभा सीट को खाली घोषित कर दिया है.

प्रदीप दुबे ने यह भी कहा, कि “हम (एक मौजूदा सदस्य) को अयोग्य घोषित नहीं करते हैं, हम केवल (संबंधित सीट की) रिक्ति की घोषणा करते हैं. अयोग्यता अदालत के आदेश से पहले ही हो चुकी थी.” आपको बता दें, कि रामपुर की एक सांसद/विधायक अदालत ने साल 2019 के अभद्र भाषा के मामले में खान को 3 साल जेल की सजा सुनाई थी. हालांकि, अदालत ने उन्हें अपनी अपील दायर करने के लिए समय देने के अलावा जमानत भी दी थी.

गौरतलब है, कि यह मामला साल 2019 में एक चुनावी रैली के दौरान रामपुर में तैनात प्रशासनिक अधिकारियों पर आरोप लगाने के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के खिलाफ टिप्पणी करने से संबंधित है. इसके साथ ही, उनके खिलाफ चोरी और भ्रष्टाचार के आरोपों सहित लगभग 90 मामले भी चल रहे हैं. इसी तरह के एक मामले में नवंबर 2021 में, अयोध्या के गोसाईगंज निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा (BJP) विधायक इंद्र प्रताप (Indra Pratap) उर्फ 'खब्बू तिवारी' को एक विशेष अदालत द्वारा 29 साल पुराने फर्जी मार्कशीट मामले में 5 साल की सजा सुनाए जाने के बाद अयोग्य घोषित कर दिया था.

मिली जानकारी के मुताबिक, खान के वकील विनोद शर्मा (Vinod Sharma) ने कहा है, कि “हम सत्र न्यायालय में अदालत के आदेश पर रोक लगाने के लिए अपील दायर करेंगे." वहीं, सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी (Rajendra Choudhary) ने कहा है, “हम पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व और वकीलों के साथ कानूनी पहलुओं पर चर्चा करेंगे. इसके बाद, कानून के तहत आगे क्या करना है इस पर हम फैसला लेंगे.”

Image Source

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश चुनाव 2022 से पहले प्रधानमंत्री मोदी करेंगे रैलियां, जानिए पूरा शेड्यूल

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com