अग्निपथ योजना को लेकर राहुल गांधी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

अग्निपथ योजना को लेकर राहुल गांधी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

राहुल गांधी (Rahul Gandhi), जो वर्तमान में "भारत को एकजुट करने" के लिए एक यात्रा (Bharat Jodo Yatra) पर हैं, ने अग्निपथ सेना योजना (Agneepath Yojna) को लेकर भाजपा (BJP) पर निशाना साधा. उन्होंने जनता से बात करते हुए कहा, कि मोदी सरकार (Modi Government) ने सेना के अधिकारियों के कार्यकाल को 4 साल तक सीमित कर उनकी पेंशन छीन ली है. 

उन्होंने यह भी कहा, कि जब देश के युवा इस योजना का विरोध कर रहे थे, तब भाजपा ने कहा था कि इस योजना का विरोध करने वाले पकड़े जाने पर भविष्य में सरकारी नौकरी के लिए पात्र नहीं होंगे. राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के दिल्ली चरण के दौरान कहा, कि "पहले युवा 15 साल तक सेना में सेवा करते थे और पेंशन प्राप्त करते थे, लेकिन नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने पेंशन को अलग रखने, 6 महीने युवाओं को ट्रेन करने, उन्हें बंदूकें देने और 4 साल तक उन्हें सेना में रखने के बारे में सोचा, फिर युवाओं को लात मार दी जाएगी और वह बेरोज़गार हो जाएँगे. यह नया भारत है.”

कांग्रेस (Congress) सांसद ने आगे कहा, “इसके बाद जब युवा सड़कों पर उतरे तो मोदी जी ने कहा, कि अगर आपकी (प्रदर्शन के दौरान) फोटो खींची गई, तो आपको सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी. भाजपा की नीति युवाओं, किसानों और मज़दूरों को डराने की है.”

इसके अलावा, दिल्ली की कड़कड़ाती ठंड में टी-शर्ट पहनने के मुद्दे को एक बार फिर उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा, “मैं भारत जोड़ो यात्रा में टी-शर्ट पहनकर चलता हूं. यात्रा में मेरे साथ गरीब किसानों और मज़दूरों के कई बच्चे फटे कपड़े पहनकर चलते हैं. लेकिन मीडिया यह नहीं पूछती, कि सर्दी के मौसम में गरीब किसानों और मज़दूरों के बच्चे बिना स्वेटर/जैकेट के क्यों घूम रहे हैं."

आपको बता दें, कि भारत जोड़ो यात्रा ने मंगलवार दोपहर दिल्ली के मरघट हनुमान मंदिर से अपने यूपी चरण में प्रवेश किया, जहां राहुल को पूजा करते हुए देखा गया था. 6 जनवरी को हरियाणा में दोबारा प्रवेश करने से पहले यात्रा के 3 दिनों में यूपी पार करने की उम्मीद है.

Image Source

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा के दौरान किसानों ने फूलों की ट्रॉलियों से किया राहुल गांधी का स्वागत

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com