Karnataka Hijab Controversy: हाईकोर्ट में सुनवाई जारी, मुख्यमंत्री ने की शांति बनाए रखने की अपील

Karnataka Hijab Controversy: हाईकोर्ट में सुनवाई जारी, मुख्यमंत्री ने की शांति बनाए रखने की अपील

Karnataka में शैक्षणिक संस्थानों में हिजाब का मुद्दा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को Karnataka हाईकोर्ट में भी इस मामले पर सुनवाई हो रही हैं. इस मामले की सुनवाई जस्टिस Krishna Dixit कर रही हैं. वहीं, राज्य के मुख्यमंत्री Basavaraj Bommai ने भी जूनियर कॉलेज के छात्रों से सरकार की तरफ से जारी नियमों का पालन करने के लिए अपील की है. आपको बता दें, कि उडुपी से शुरू हुआ यह विवाद अब राज्य के कई जिलों में फैल गया है.

Karnataka में यह विवाद अब बढ़ता ही जा रहा है और मुस्लिम लड़कियों का एक वर्ग कॉलेज में हिजाब पहनने पर अड़ा हुआ है. जबकि राज्य सरकार द्वारा शैक्षणिक संस्थानों में छात्रों के लिए वर्दी को अनिवार्य बनाने का निर्देश दिया है. वहीं, राज्य में ऐसी कई घटनाएं सामने आ रही हैं, जहां मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनकर महाविद्यालयों और कक्षाओं में जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है. दूसरी ओर, हिजाब के जवाब में हिंदू छात्र भगवा शॉल लेकर शैक्षणिक संस्थान आ रहे हैं.

कहां से शुरू हुई हिजाब की कहानी?

यह विवाद लगभग एक महीने पहले उडुपी के एक सरकारी महाविद्यालय से शुरू हुआ था. जहां कॉलेज में छह छात्राएं तय ड्रेस कोड का पालन नहीं करते हुए हिजाब पहनकर कक्षा में आई थीं. इन 6 छात्राओं को कक्षा में जाने से रोका गया और छात्राओं ने कॉलेज के बाहर ही इस फैसले का विरोध करना शुरू कर दिया. इस विरोध में शामिल एक छात्रा ने Karnataka हाईकोर्ट का रुख किया था. अन्य छात्राओं ने कहा, कि कक्षा में हिजाब पहनने से रोकने के चलते उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन हो रहा है.

इस मामले में मुस्लिम धर्म गुरुओं के एक संगठन ने Karnataka के सरकारी स्कूलों में छात्राओं के हिजाब पहनने पर प्रतिबंध लगाने के फैसले को लोकतांत्रिक मूल्यों और अल्पसंख्यकों के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन बताया. संगठन के महासचिव मौलाना सैय्यद कल्बे जवाद नक़वी ने कहा, कि हिजाब शिक्षा हासिल करने में बाधा नहीं बनता और इसके कई अनगिनत उदाहरण भारत और दुनिया भर में मौजूद हैं. सच तो यह है, कि हिजाब पर प्रतिबंध लगाकर एक धर्म विशेष को निशाना बनाया जा रहा है ताकि भगवा मंसूबे को अंजाम दिया जा सके.

कर्नाटक में ‘हिजाब’ पहनने पर विवाद बीते सोमवार को गहरा हो गया और कुछ छात्राओं ने यूनिफार्म को लेकर सरकार के आदेश का उल्लंघन करने की मंशा जाहिर की. इसके साथ ही Karnataka के मुख्यमंत्री Basavaraj Bommai ने शांति कायम रखने की अपील की है. इसके बावजूद छात्राएं हिजाब पहनने की अपनी मांग पर अड़ी रहीं और उन्हें एक अलग कमरे में जाने को कहा गया.

विवाद बढ़ता देखकर Karnataka के विजयपुरा के दो कॉलेज शांतेश्वरा पीयू और जीआरबी कॉलेज में दो दिन की छुट्टी के ऐलान किये गए हैं. जबकि, उडुपी के कॉलेज में हिजाब के साथ छात्राओं को आने की इजाज़त दे दी गई थी.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com