Arvind Kejriwal MCD Polls: मनोज तिवारी पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात

Arvind Kejriwal MCD Polls: मनोज तिवारी पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात

दिल्ली नगर निगम (Municipal Corporation of Delhi) यानी एमसीडी के चुनाव से पहले पार्टी के प्रचार के अंतिम चरण को संभालते हुए, आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, कि अगर पार्टी ने अच्छा काम किया होता, तो चुनाव के प्रचार के लिए शीर्ष राष्ट्रीय नेताओं को जमीन पर नहीं लाना पड़ता.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, कि “अगर बीजेपी ने पिछले 15 सालों में कोई अच्छा काम किया होता, तो एमसीडी चुनाव के लिए 17 केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों और सांसदों को वोट मांगने के लिए जमीन पर लाने की जरूरत नहीं पड़ती. देखिए! मैं अकेला चुनाव प्रचार कर रहा हूं. वह केवल एक ही काम करते हैं मुझे गाली देते हैं, लेकिन दिल्ली की जनता ने उन्हें हरा दिया था. आज भी मुझे व्हाट्सएप संदेश मिला, कि दिल्ली के लोगों ने दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी को हरा दिया था.”

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने हाल ही में लीक हुए मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) के जेल में मालिश और खाना खाने के वीडियो को लेकर भी भाजपा को एक फिल्म निर्माण कंपनी बताया है. उहोने कहा, “भाजपा एक फिल्म निर्माण कंपनी बन गई है. फर्क सिर्फ इतना है, कि सामान्य फिल्में शुक्रवार को रिलीज होती हैं और यह लोग हर दिन एक फिल्म रिलीज करते हैं.”

आगे उन्होंने भाजपा के सांसद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) पर निशाना साधते हुए कहा, कि “लेकिन क्या पिक्चर है ये? ना गाना, ना डांस, ना म्यूजिक. कुछ तो गाना डालो भाई, रिंकिया के पापा या बीयर पी कर बेबी नाच यही डाल देते.”

आपको बता दें, कि गुजरात में विधानसभा चुनाव प्रचार का समापन करते हुए अरविंद केजरीवाल फिलहाल एमसीडी चुनाव के प्रचार के लिए मैदान में उतरे हैं, जिसकी शुरुआत दक्षिण दिल्ली के गांव में घर-घर जाकर प्रचार करने से हुई. गौरतलब है, कि एमसीडी चुनाव प्रचार 2 दिसंबर को शाम 5 बजे तक जारी रहेगा. इसके बाद, चुनाव 4 दिसंबर को होगा और वहीं इसके नतीजे 7 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.

Image Source

यह भी पढ़ें: Rishi Sunak Foreign Policy: भारत के साथ 'फ्री ट्रेड अग्रीमेंट' पर काम करेगा ब्रिटेन

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com