25,000 'शून्य' बिजली बिल दिखाकर भगवंत मान ने किया गुजरात में मुफ्त बिजली देने का वादा

25,000 'शून्य' बिजली बिल दिखाकर भगवंत मान ने किया गुजरात में मुफ्त बिजली देने का वादा

गुजरात विधानसभा चुनाव (Gujarat Assembly Elections) में जीत हासिल करने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियाँ ज़ोर लगा रही हैं. बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने अपने गुजरात दौरे के दौरान अपने राज्य के 25,000 "शून्य" बिजली के बिल दिखाए. यह बिल दिखाते हुए उन्होंने यह दावा किया, कि अगर आम आदमी पार्टी (AAP) विधानसभा चुनाव में अपनी सरकार बनाती है तो गुजरात के लोगों को इसी तरह के "शून्य" बिल मिलेंगे.

भगवंत मान ने गुजरात में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान कहा, कि पंजाब में 75 लाख घरों में से 61 लाख घरों को ‘शून्य’ बिजली बिल प्राप्त हुए हैं. इससे यह पता चलता है, कि आप कहती है वह करती है. उन्होंने कहा, "मैं नाम और पते के साथ 25,000 ‘शून्य’ बिजली बिल लाया हूं, जिसे आप जांच सकते हैं. आज तक, पंजाब में लगभग 75 लाख बिजली मीटर लगाए गए हैं. 61 लाख घरों में ‘शून्य’ बिजली बिल प्राप्त हुए हैं. दिसंबर में ऐसे बिलों की संख्या, सर्दियों में कम खपत के कारण 67 लाख होगी. वहीं जनवरी में यह बढ़कर 71 लाख हो जाएगी. हम जो कहते हैं वह करते हैं, और हम जो करते हैं वही कहते हैं. गुजरात में भी ऐसा ही हो सकता है. हमने वादा किया है और उसे पूरा भी करेंगे."

आपको बता दें, कि गुजरात में प्रति माह 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली प्रदान करना आम आदमी पार्टी की मुख्य चुनावी "गारंटियों" में से एक है. इसके अलावा, भगवंत मान ने यह भी दावा किया कि पंजाब सरकार ने 15 अगस्त तक 100 मोहल्ला क्लीनिक स्थापित किए हैं और 26 जनवरी तक ऐसे 500 से अधिक क्लीनिक स्थापित करने की योजना है.

पंजाब के मुख्यमंत्री ने पुरानी पेंशन योजना की बात करते हुए कहा, कि “हमारी सरकार ने सरकारी ख़ज़ाने के करोड़ों रुपये बचाने वाले विधायकों की पेंशन भी बंद कर दी है.” ग़ौरतलब है, कि गुजरात में 182 विधानसभा सीटों के लिए दो चरणों में 1 और 5 दिसंबर को मतदान होंगे. इसके बाद, 8 दिसंबर को मतगणना की जाएगी. पहले चरण के प्रचार मंगलवार शाम को समाप्त हुए हैं.

Image Source

यह भी पढ़ें: उज्जैन के महाकाल मंदिर में पूजा करने के बाद राहुल गांधी ने साधा भाजपा पर निशाना

Related Stories

No stories found.
logo
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com