हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव: भाजपा को दूसरी बार ऐतिहासिक जीत की उम्मीद

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव: भाजपा को दूसरी बार ऐतिहासिक जीत की उम्मीद
SOPA Images

भाजपा (BJP) ने जोर देकर कहा है, कि प्रगति के लिए निरंतरता आवश्यक है. साथ ही साथ जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) और पार्टी का मुख्य दावा है, कि संघीय और राज्य स्तर पर एक ही पार्टी द्वारा चलाये जाने से सरकारों को अवरोधों का सामना नहीं करना पड़ेगा और राज्य को और उन्नति की ऒर ले जाने में आसानी होगी.

भाजपा से अलग कांग्रेस (Congress) चाहती है, कि लोग चार दशक की परंपरा का पालन करें और दावा करें, कि चुनाव स्थानीय मामलों के बारे में हो. आपको बता दें, कि दिग्गज वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) के निधन के बाद से नेतृत्व संकट का सामना कर रही पार्टी का दावा है, कि वह आसानी से सत्ता में वापसी कर सकती है क्योंकि सीट-दर-सीट टिकट वितरण पहले की तुलना में कहीं बेहतर रहा है. गौरतलब है, कि वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह राज्य इकाई की प्रभारी भी हैं.

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) , जिन्हें भाजपा के हिंदुत्व सिद्धांत का आक्रमक चेहरा माना जाता है, वह भी फिलहाल चुनाव प्रचार के लिए हिमाचल गए हुए हैं. वहीं, कांग्रेस की तरफ से प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने कांग्रेस के लिए रैलियां की थीं और उनके भाई राहुल गांधी (राहुल Gandhi) ने भारत जोड़ो यात्रा पर बने रहने का फैसला किया था.

मिली जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस ने पीएम मोदी के गढ़ गुजरात में एक शांत अभियान चलाया है, जहाँ अगले महीने चुनाव होने वाले हैं, लेकिन उससे पहले उन्हें हिमाचल को जीतने की जरूरत है ताकि कांग्रेस की गिरती शाख को को रोका जा सके. आपको बता दें, कि लगभग दो सालों में पार्टी नौ राज्यों में जीत हासिल करने में असफल रही है. वहीं, आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) भी हिमाचल में चुनाव लड़ रही है, लेकिन गुजरात पर इनका विशेष ध्यान है.

गौरतलब है, कि चुनाव आयोग ने हिमाचल में मतदान के लिए 7884 मतदान केंद्र बनाए थे, जिनमें से तीन काफ़ी अंदरूनी हिस्से में थे.

Image Source

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश चुनाव 2022 से पहले प्रधानमंत्री मोदी करेंगे रैलियां, जानिए पूरा शेड्यूल

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com