APJ Abdul Kalam: मिसाईल मैन को प्रधानमंत्री ने बताया ‘प्रेरणास्त्रोत’

APJ Abdul Kalam: मिसाईल मैन को प्रधानमंत्री ने बताया ‘प्रेरणास्त्रोत’

आज के दिन को पूरी दुनिया में 'Students Day' के रूप में मनाया जाता है. भारत के लिए आज का यह दिन और भी खास है, क्योंकि आज ही के दिन उस महान शख्सियत का जन्म हुआ, जिसने भारत की झोली में 'मिसाइल' नाम का तोहफा डाला था. आज भारत के मिसाइल मैन के नाम से मशहूर, APJ Abdul Kalam का जन्मदिन है. 

इस बार, 'World Students Day' का विषय है 'ग्रह, समृद्धि और शांति', जिसका उद्देश्य दुनिया भर में प्रत्येक व्यक्ति के मौलिक अधिकार के रूप में शिक्षा की भूमिका की पुष्टि करना है. तमिलनाडु के रामेश्वरम में जन्मे, Dr. APJ Abdul Kalam ने अपने जीवन के शुरुआती वर्षों में विज्ञान और प्रौद्योगिकी का अध्ययन किया. कलाम ने अपना पूरा जीवन, छात्रों को स्वयं का सर्वश्रेष्ठ संस्करण बनने के लिए शिक्षण और प्रेरणा देने के लिए समर्पित कर दिया. सबसे महत्वपूर्ण, भारतीय मिसाइलों के विकास करने के लिए उन्हें 'भारत का मिसाइल मैन' भी कहा जाता था. उन्होनें DRDO और ISRO में भी काम किया था.

साल 2002 में एयरोस्पेस वैज्ञानिक, APJ Abdul Kalam देश के 11वें राष्ट्रपति बने. कलाम ने साल 2007 तक राष्ट्रपति कार्यालय में सेवा प्रदान की और उसके बाद अपना पूरा जीवन शिक्षण के लिए समर्पित कर दिया. वह शिलांग, IIM अहमदाबाद और IIM इंदौर में भारतीय प्रबंधन संस्थान में अतिथि प्रोफेसर बने. उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान यानी भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था. भारत सरकार में वैज्ञानिक सलाहकार के रूप में किए गए उनके काम के लिए, उन्हें पद्म भूषण और पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया.

भारत के प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट करके APJ Abdul Kalam को श्रद्धांजलि दी है. प्रधानमंत्री ने लिखा, "मिसाइल मैन के रूप में विख्यात देश के पूर्व राष्ट्रपति, Dr. APJ Abdul Kalam जी को उनकी जयंती पर सादर नमन. उन्होंने अपना जीवन भारत को सशक्त, समृद्ध और सामर्थ्यवान बनाने में समर्पित कर दिया. देशवासियों के लिए वे हमेशा प्रेरणास्रोत बने रहेंगे."

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com