Pappu Yadav: 2 अस्पतालों की बदहाली दिखाई, कहा बिहार के हेल्थ सिस्टम का मल्टी ऑर्गन फेलियर।

Pappu Yadav: 2 अस्पतालों की बदहाली दिखाई, कहा बिहार के हेल्थ सिस्टम का मल्टी ऑर्गन फेलियर।

पप्पू यादव(Pappu Yadav)  ने ट्विटर के जरिए बिहार (Bihar) में सरकारी अस्पतालों की बदहाली का मंजर दिखाया है। बिहार के CM नीतीश कुमार(Nitish Kumar) की जन्मस्थली में, सरकारी अस्पताल मुर्गी फार्म बन गया है। जहां दवा होनी चाहिए थी वहां भूसा रखा हुआ है । CM के गांव की एक औरत के साथ पटना के पारस अस्पताल में यौन हिंसा की गई, और उनकी मृत्यु हो गयी है।

पप्पू यादव(Pappu Yadav) ने नीतीश कुमार(Nitish Kumar) की जन्मस्थली बख्तियारपुर में एक सरकारी अस्पताल की बदहाली का मंजर ट्विटर पर ट्वीट किया है। दरअसल, बख्तियारपुर के रूपसपुर महाजी पंचायत में, एक सरकारी अस्पताल को मुर्गी के फॉर्म में तब्दील कर दिया गया है। वहां मरीजों के इलाज के बजाय, मुर्गियों का पालन चल रहा है, जहां दवा होनी चाहिए, वहां भूसा भरा हुआ है। इस महामारी में एक तरफ जहां अस्पतालों की कमी हो रही है, ऐसे में CM नीतीश कुमार(Nitish Kumar)  की जन्मस्थली में सरकारी अस्पताल का यह हाल जनता के सामने जारी कर पप्पू यादव(Pappu Yadav) ने  सरकार पर निशाना साधा है। 

उन्होंने ट्वीट करके लिखा,"बिहार (Bihar) की स्वास्थ्य व्यवस्था का मल्टी ऑर्गन फेलियर हो चुका है। बस लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा हुआ है। राजधानी पटना के पास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) जी का जहां जन्म हुआ उस बख्तियारपुर के रूपसपुर महाज़ी पंचायत में सरकारी अस्पताल मुर्गा फॉर्म में बदल गया है। दवाओं के जगह भूसा रखा हुआ है।"

महामारी के दौरान पप्पू यादव(Pappu Yadav) लोगों की काफी मदद कर रहे थे, और साथ ही साथ नीतीश सरकार की कई खामियों को भी सामने ला रहे थे। लॉकडाउन के नियमों का अनुपालन करने के जुर्म में जब उन्हें गिरफ्तार किया गया, तब विपक्ष के कई नेताओं ने इस पर नाराजगी जताई और विरोध किया। कुछ लोगों का मानना था कि, क्योंकि उन्होंने भाजपा सांसद, राजीव प्रताप रूडी के घर पर दर्जनों एंबुलेंस रखे होने का खुलासा किया, इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है।

पप्पू यादव(Pappu Yadav) ने एक और ट्वीट करके, एक सरकारी अस्पताल की बदहाली को सबके सामने रखा। इसके साथ ही, उन्हें स्वास्थ्य मंत्री को चुल्लू भर पानी खोजने की सलाह देते हुए ट्वीट में लिखा,"स्वास्थ्य विभाग ने बिहार (Bihar) के हेल्थ सिस्टम के साथ दशकों से सामूहिक बलात्कार किया है। उसका नतीजा देखिए नेता विपक्ष के क्षेत्र में भी जब सरकार ने हॉस्पिटल का यह हाल कर रखा है तो समझ सकते हैं पूरे राज्य की क्या दशा होगी? स्वास्थ्य मंत्री जी चुल्लू भर पानी नहीं मिला अभी तक? CM साहब?"

बीते दिनों उन्होंने, मुख्यमंत्री के गांव कल्याण बीघा की एक औरत के साथ पटना के पारस अस्पताल में यौन हिंसा के मामले को भी उठाया, ट्विटर पर लिखा कि,"पारस हॉस्पिटल पटना को अपने कुकर्मों की सजा भुगतनी होगी। जब बिहार (Bihar) के CM नीतीश कुमार(Nitish Kumar) जी के गांव कल्याण बीघा की कोरोना संक्रमित मां के साथ यौन हिंसा हो सकती है! उन्हें मार दिया जा सकता है तो आम लोगों के साथ क्या होता होगा?समझें! इसलिए #ShutDownParasHopital या, सरकार करे इसे टेक ओवर!"

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com