Pakistan News: 11 वर्षीय हिंदू बालक की शारीरिक शोषण के बाद बेरहमी से हत्या, CAA पर चर्चा तेज़

Pakistan News: 11 वर्षीय हिंदू बालक की शारीरिक शोषण के बाद बेरहमी से हत्या, CAA पर चर्चा तेज़

Pakistan के सिंध प्रांत क्षेत्र में एक 11 वर्षीय हिंदू बालक का शारीरिक शोषण कर हत्या कर दी गई है. वहीं, परिजनों के मुताबिक़, लड़का शुक्रवार 19 नवंबर 2021 को अचानक से गायब हो गया था. जिसके बाद शनिवार को खैरपुर मीर इलाके के बबरलोई कस्बे के एक सुनसान घर में उसका शव मिला. स्थानीय पुलिस वालों ने इस मामले में दो व्यक्तियों को हिरासत में लिया है, जिसमें से एक ने अपना जुर्म कबूल किया है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, मृतक लड़के का परिवार गुरु नानक जयंती में व्यस्त था, उस दिन बालक अचानक से गायब हो गया. परिवार वालों को इस बारे में कुछ भी पता नही चल पाया. स्थानीय पुलिस वालों ने शनिवार रात 11 बजे एक घर से बालक का शव बरामद किया. वहीं, मामले की जांच कर रहे एसएचओ ने कहा, कि "अपराधियों में लड़के का यौन शौषण करने के बाद गला दबाकर हत्या कर दी. इस मामले में दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. जिनमें से एक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है." 

Pakistan के सुक्कुर बाल सरंक्षण प्राधिकरण अधिकारी जुबैर मेहर ने कहा, कि "नाबालिग के शरीर पर प्रताड़ना के भी निशान है. कुछ हफ्तों में इस तरह की यह दूसरी घटना है. इससे पहले हिंदू समुदाय की एक नाबालिग लड़की लापता हो गई थी. पुलिस ने उसकी बरामदगी के  लिए 25 लाख रुपए के ईनाम की घोषणा की है. लेकिन यह मामला जस का तस है."

Pakistan में नाबालिगों पर बढ़ रहा है अत्याचार

मानवाधिकार संस्था मूवमेंट फॉर सॉलिडेरिटी एंड पीस(MSP) की एक रिपोर्ट के अनुसार, Pakistan में हर साल 100 से ज्यादा हिंदू और इसाई महिलाओं और लड़कियों का अपहरण किया जा रहा है. इनमें से ज्यादातर की उम्र 12 साल से 25 साल के बीच है. इस रिपोर्ट में बताया गया है, कि इन लड़कियों की अपहरण के बाद धर्म परिवर्तन कर, जबरदस्ती शादी करवाई जाती है.

हालांकि, Pakistan ही नहीं बल्कि कई अन्य देशों में भी अल्पसंख्यक लोगों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ी हैं. हाल ही के कुछ दिनों में बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों और भक्तो पर हमला किया गया था. 

CAA की मांग तेज हो उठी 

कई देशों में अल्पसंख्यकों और हिंदुओ और पर हो रहे अत्याचार के बाद CAA बिल को लागू करने की मांग तेज हो उठी है. हालांकि, इस मामले में लोग अभी भी दो धड़ों में बंटे हुए है. जहां एक धड़ा CAA बिल को पूर्ण रूप से भारत में लागू करने की मांग कर रहा है, वहीं, दूसरा धड़ा इसे निरस्त करने की मांग कर रहा है. 

AIMIM के अध्यक्ष, Asaduddin Owaisi ने Farm Laws की वापसी के बाद एक बयान में कहा, कि "हमें उम्मीद है, कि Farm Laws की वापसी की तरह जल्द ही CAA की वापसी भी होगी. 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com