OYO: Oravel Stays से शुरू हुई कंपनी, 8,000 करोड़ के IPO तक पहुंची

OYO: Oravel Stays से शुरू हुई कंपनी, 8,000 करोड़ के IPO तक पहुंची

भारत की हाॅस्पिटेलिटी क्षेत्र में काम कर रही कंपनी OYO आज बिज़नेस जगत में सुर्खियां बटोर रही है.  बताया जा रहा है कि, कंपनी अगले महीने अक्टूबर में 8,000 करोड़ रुपए का Initial Public Offering (IPO) लाने की तैयारी में है. इसके लिए OYO ज़ल्द ही, Security and Exchange Board of India (SEBI) के पास आवश्यक दस्तावेज़ों को दाखिल करेगी.

इस वर्ष IPO की हलचल से बिज़नेस और शेयर बाज़ार, दोनों ही अछूते नहीं रहे. हर दूसरे दिन IPO में जुड़ रही कंपनियों के नामों ने निवेशकों के बीच काफ़ी उत्साह पैदा किया. मगर इस क्षेत्र में भी बाज़ी मारी भारतीय स्टार्टअप्स ने. फिर वो चाहे Zomato हो या अगले महीने आने वाला OYO का IPO. वहीं भारत में बिज़नेस की संभावनाएं दिखाने वाले Deepinder Goyal और Ritesh Agarwal को आज भारत के भविष्य के रूप में देखा जाने लगा है. 

कौन है Ritesh Agarwal? 

16 नवंबर, 1993 को जन्में Ritesh Agarwal, फिलहाल भारतीय बिज़नेस में लोगों को संभावनाएं दिखा रहे हैं. वहीं OYO के संस्थापक होने के नाते इनका नाम, युवा अरबपतियों की सूची में भी शामिल हुआ है. साधारण मारवाड़ी परिवार के Ritesh का OYO को लेकर सिर्फ जज़्बा ही था जिसके कारण कंपनी आज भारत के सफलतम स्टार्टअप्स में शामिल है. घुमने-फिरने के शौक और Bill Gates को प्रेरणा मानने वाले Ritesh Agarwal, आज खुद बहुतों की प्रेरणा हैं. 

Oravel Stays कैसे बना OYO Rooms?

आपको बता दें, कि OYO की नींव Oravel Stays ने रखी थी. यह Ritesh Agarwal का ही स्टार्टअप था, जो भारत में वर्ष 2013 में OYO Rooms के नाम के साथ लाॅंच हुआ. Oravel Stays की बात करें, तो उस वक्त कंपनी का मकसद था लोगों को कम कीमत पर कमरे उपलब्ध कराना. जो कुछ समय तक तो सफल रहा, मगर उसके बाद बाज़ार में फिसल गया. इस असफलता को सिरे से नकार कर और कुछ सबक लेकर, कंपनी के संस्थापक ने OYO Rooms को लाॅंच किया. यह लांच उन उपभोक्ताओं को ध्यान में रखकर शुरू हुआ था, जो पर्यटक थे और ठहरने की जगहों के लगातार गिरते स्तर से परेशान थे. OYO पर मुख्य रूप से आपके आसपास के होटल की पूरी सूची उपलब्ध होती है, जो कंपनी कि सुरक्षा और सुविधाओं के मानकों पर खरी उतरती है. 

OYO IPO से क्या है कंपनी को उम्मीदें

होटल और हाॅस्पिटेलिटी क्षेत्र में शानदार काम कर रही OYO की नज़र अब शेयर बाज़ार पर है. कंपनी अपना IPO लाने के लिए पूरे ज़ोर-शोर से काम कर रही है. एक नज़र कंपनी पर-

कंपनीसूचना
1.संस्थापक Ritesh Agarwal 
2.हेडक्वार्टरगुड़गांव, हरियाणा
3.वर्तमान मूल्यांकन9 बिलियन डॉलर
4.पार्टनरशिपजापान की कंपनी साॅफ्टबैंक (46%) 
5.सलाहकारKotak Mahindra Capital, JP Morgan और Citi 
6.कर्मचारी17,000 से ज़्यादा

इस साल IPO की रेस में शामिल हुए ये नाम

वर्ष 2021 में OYO अकेली नहीं है जो IPO को लेकर योजना बना रही है. इससे पहले भी, कई सारी महत्वपूर्ण कंपनियों ने इस क्षेत्र में खुद को सूचीबद्ध किया है. 

कंपनीप्रस्ताव
1.Zomatoफिलहाल शेयर बाज़ार में सूचीबद्ध इस कंपनी ने निवेशकों के बीच IPO को लेकर गज़ब का उत्साह पैदा किया था. Zomato के IPO से कंपनी की 9,375 करोड़ रुपए जुटाने की योजना थी. 
2.Policybazaarइस प्रमुख इंश्याेरेंस एग्रीगेटर कंपनी का IPO, इसी वर्ष दिसंबर तक आने की संभावना है. कंपनी इसके माध्यम से 6,017 करोड़ रुपए जुटाएगी. 
3.Nykaaभारतीय महिला उद्यमियों में शामिल Falguni Nayar की कंपनी Nykaa का IPO, लगभग 70-75 मिलियन डॉलर रहने की संभावना है. कहा जा रहा है कि कंपनी की बाज़ार में मज़बूत पकड़ का असर, शेयर बाज़ार में भी दिख सकता है.
4.Paytmऑनलाइन भुगतान कंपनी Paytm, SEBI के पास 8,300 करोड़ रुपए जुटाने के लिए IPO का प्रस्ताव रख चुकी है. 
5.LICसरकारी क्षेत्र में काम करने वाली बीमा कंपनी LIC, अगले वर्ष मार्च 2022 तक शेयर बाज़ार में सूचीबद्ध होने की तैयारी में है. कंपनी IPO के माध्यम से 90,000 करोड़ रुपए जुटाने के लिए बाज़ार में उतरेगी. 
6.OLAबाज़ार से 11,000 करोड़ रुपए जुटाने के लिए, यह टैक्स एग्रीगेटर कंपनी SEBI के पास ज़ल्द ही आवश्यक दस्तावेज़ दाखिल करेगी. 

आपको बता दें, कि किसी भी कंपनी को अपना IPO शेयर बाज़ार में लाने के लिए सबसे पहले SEBI की स्वीकृति लेनी होती है. जहां कंपनी आवश्यक दस्तावेज़ और अपनी योजना का खांका प्रस्तुत करती है. इसके बाद ही, कंपनी का IPO आम निवेशकों के लिए खोला जाता है. 

विदेशी ज़मीन पर भी गाड़े सफलता के झंडे

अपने स्टार्टअप बिज़नेस के लिए ज़मीन-आसमान एक करने वाले Ritesh Agarwal सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि विश्व भर में अपने पैर पसार चुके हैं. आज OYO भारत के अलावा, चीन, नेपाल, यूनाइटेड किंगडम, दुबई, इंडोनेशिया, आदि में अपनी सुविधाएं दे रहा है. OYO द्वारा साझा हुई एक रिपोर्ट के अनुसार, OYO Rooms भारत के लगभग 280 से ज़्यादा शहरों में मौज़ूद है. 

भविष्य में OYO 

भारत और अन्य देशों में OYO के बढ़ते वर्चस्व से ऐसा लग रहा है कि, यह बिज़नेस आने वाले समय में एक मील का पत्थर साबित होगा. क्योंकि आमतौर पर OYO, देश की एक बहुत ही कमज़ोर नब्ज़ लेकर आगे बढ़ रहा है, जो है किफ़ायत के साथ सुविधा. वहीं पर्यटकों की संख्या में देखी जा रही लगातार वृद्धि, OYO को बेहतरीन सफलता दिलाने में कामयाब हो सकती है. 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com