OnePlus और Oppo ने मिलाया हाथ, एक होने के बाद भी टेक्निकल रूप से होंगे अलग

OnePlus और Oppo ने मिलाया हाथ, एक होने के बाद भी टेक्निकल रूप से होंगे अलग

कुछ दिन पहले ही खबर आई थी, की चीनी स्मार्टफोन कंपनी Oppo और OnePlus ने आपस में हाथ मिला लिया है. वहीं यूजर्स को दोनों कंपनियों के पूरी तरह से एक होने कि आशा थी. OnePlus के सीईओ  Pete Lau ने बताया कि दोनों कंपनियों की केवल, टीम ही मिलकर काम करेगी. लेकिन तकनीकी तौर पर दोनों कंपनियां स्वतंत्र ही रहेंगी.

इसके साथ ही उन्होंने कहा, की चीनी बाजार के बाहर, ग्लोबल उपकरणों में अब भी OxygenOS का ही इस्तेमाल किया जाएगा. 

OnePlus और Oppo का एक होना

आपको बता दें, कि बीते दिनों OnePlus forum पर इससे जुड़ा ऐलान भी किया गया है. इसमें कहा गया है कि, सहयोगी कंपनी Oppo के साथ, इंटीग्रेशन के दायरे को आगे बढ़ाया जा रहा है. बीते साल हुए इंटीग्रेशन में कंपनी ने सकारात्मक प्रभाव देखे हैं. ऐसे में Oppo के साथ मिलकर कंपनी के प्रोडक्ट पोर्टफोलियो का विस्तार किया जा सकेगा. ग्राहकों को अधिक से अधिक शानदार विकल्प पेश किए जा सकेंगे. हालांकि OnePlus अब भी अपने प्रोडक्ट, इवेंट्स और लॉन्च को, यूजर्स से जोड़ने के लिए कंपनी अपने प्लेटफार्म का इस्तेमाल करेगी.

हालांकि, जब से Pete Lau ने दोनों कंपनियों के प्रोडक्ट्स की जिम्मेदारी उठाई है. तभी से दोनों कंपनियों के इंटीग्रेट होने की अफवाह उड़ रही थी. आपको बता दें, कि इन दोनों कंपनियों का मालिकाना हक चीनी इलेक्ट्रॉनिक कंपनी BBK के पास है. 

चीन की OnePlus यूनिट ने Hydrogen OS को अपनाया था. ये OxygenOS की नकल मात्र है, जिसमें से केवल गूगल सेवाएं हटा दी गई हैं. फिर पिछले मार्च कंपनी ने Oppo  के ColorOS को अपना लिया था. कंपनी ने कहा, कि यह जरूरी था, क्योंकि चीनी यूजर्स को Android के ओएस का दूसरा वर्जन चाहिए था. मगर चीन के बाहर कम्पनी, अब भी Android के OxygenOS का ही इस्तेमाल करेगी.

इसी के साथ, सूत्रों के अनुसार, OnePlus का आने वाला स्मार्टफोन, Oppo Reno 6 या फिर Realme X9 Pro का मॉडिफाइड वर्जन हो सकता है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com