Aryan Khan Drugs Case: गहराते मामले के बीच एनसीपी नेता ने किया चौंकाने वाला खुलासा

Aryan Khan Drugs Case: गहराते मामले के बीच एनसीपी नेता ने किया चौंकाने वाला खुलासा

Aryan Khan Drugs Case में आए दिन चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं. वहीं, आज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता और महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री Nawab Malik ने आज Aryan Khan Drugs Case में एक और चौंकाने वाला खुलासा किया है. Nawab Malik ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए, दावे के साथ कहा, कि क्रूज से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की टीम ने 11 लोगों को हिरासत में लिया था. लेकिन इनमें से में 3 लोगों को बाद में छोड़ दिया गया. 

Nawab Malik ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, कि "क्रूज पर छापेमारी के बाद एनसीबी के अधिकारी समीर वानखड़े ने कहा था, कि क्रूज से 8-10 लोगों को हिरासत में लिया गया था. लेकिन सच ये है, कि 11 लोगों को हिरासत में लिया गया था. इनमें से 3 लोग, ऋषभ सचदेव, प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला को बाद में छोड़ दिया गया था. हम एनसीबी से पूछना चाहते हैं, कि जब उन्होंने 11 लोगों को हिरासत में लिया, तो किसके कहने पर 3 लोगों को छोड़ा गया. हम चाहतें हैं, कि एनसीबी इस मामले में अपने तथ्य सबके सामने रखें."

साथ ही, उन्होंने कहा, कि "हमें ऐसा लगता है कि बीजेपी और एनसीबी के समीर वानखड़े के बीच मिलीभगत है. मुंबई पुलिस की एंटी नारकोटिक्स सेल इस मामले में स्वतंत्र जांच करे. मैं मामले की जांच को लेकर मुख्यमंत्री को भी एक पत्र लिखूंगा, कि वह जरूरत पड़ने पर छापेमारी को लेकर एक जांच आयोग गठित करें." Nawab Malik ने ऋषभ सचदेव, प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला का वीडियो शेयर किया है, जिसमें 3 लोग एनसीबी ऑफिस से बाहर आते दिखाई दे रहे हैं. 

आपको बता दें, कि Aryan Khan Drugs Case में Nawab Malik ने एक दिन पहले भी नारकोटिक्स और बीजेपी के मिलीभगत के आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा था, कि "यह सब वानखड़े के नेतृत्व में हो रहा है. एनसीबी वहां कारवाई करती है, जहां उन्हें पब्लिसिटी मिले."

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com