Somnath Temple Inauguration: प्रधानमंत्री ने मंदिर में किया कई परियोजनाओं का शुभारंभ

Somnath Temple Inauguration: प्रधानमंत्री ने  मंदिर में किया कई परियोजनाओं का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात के एतिहासिक Somnath Temple में एकसाथ कई परियोजनाओं का शुभारंभ और शिलान्यास किया. नरेंद्र मोदी ने इन सभी परियोजनाओं का उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए किया. इन परियोजनाओं में सोमनाथ सैरगाह, सोमनाथ प्रदर्शनी केंद्र और सोमनाथ मंदिर शामिल हैं. इसी के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में स्थित पार्वती मंदिर का शिलान्यास भी किया. 

सोमनाथ के सैरगाह को 'प्रसाद योजना' (तीर्थकाल कायाकल्प और आध्यात्मिक, धरोहर संवर्धन अभियान) के तहत 47 करोड़ रुपए की अधिक लागत से बनाया गया है. वहीं पर्यटन सुविधा केंद्र के परिसर में पुराने Somnath Temple के खंडित हिस्सों और पुराने सोमनाथ की नागर शैली वास्तुकला को दर्शाया जाता है. 

जूना (सोमनाथ) मंदिर के दोबारा बने मंदिर को ट्रस्ट द्वारा 3.5 करोड़ रुपयों की लागत से बनाया गया है. पुराने सोमनाथ मंदिर को 'अहिल्याबाई मंदिर' के नाम से भी पहचाना जाता है. इसके पीछे की वजह यह है, कि इस मंदिर को इंदौर की रानी अहिल्याबाई द्वारा बनाया गया था. मंदिर के खंडहर में तब्दील हो जाने के कारण इसका दोबारा निर्माण किया गया. मंदिर के ठीक पीछे 45 करोड़ रुपयों की लागत से सवा किलोमीटर लंबा वॉक वे भी बनाया गया. 

दूसरी ओर, करीब 30 करोड़ की लागत के साथ पार्वती मंदिर का निर्माण भी किया जाएगा. मंदिर के निर्माण में सोमपुरा सलात शैली से मंदिर का निर्माण, गर्भ गृह और नृत्य मंडप का विकास करना शामिल है. इस मंदिर का गर्भग्रह 380 स्क्वायर मीटर का होना बताया गया है, जबकि मंदिर का नृत्य मड़प 1,250 स्क्वायर मीटर का बनाया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंदिर की आधारशिला रखने के साथ-साथ मंदिर परिसर में परिपथ का भी शुभारंभ किया. 

आपको बता दें, कि Somnath Temple ट्रस्ट के पूर्व अध्यक्ष केशू भाई पटेल की मृत्यु के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं Somnath Temple के ट्रस्ट के अध्यक्ष बने. वहीं इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ गृहमंत्री Amit Shah और गुजरात के मुख्यमंत्री Vijay Rupani भी शामिल हुए. गुजरात के मुख्यमंत्री Vijay Rupani सोमनाथ के राम मंदिर ऑडिटोरियम से प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए जुड़े.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com