Narendra Modi: Birsa Munda जयंती पर बताया देश में आदिवासियों का अहम योगदान

Narendra Modi: Birsa Munda जयंती पर बताया देश में आदिवासियों का अहम योगदान

भारतीय प्रधानमंत्री Narendra Modi ने आज सोमवार 15 नवंबर को, झारखंड की राजधानी रांची में एक संग्रहालय का उद्घाटन किया है. यह संग्रहालय आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी, Birsa Munda को समर्पित है. प्रधानमंत्री ने इस संग्रहालय का उद्घाटन वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया है. साथ ही उन्होंने इस बात की घोषणा भी की है, कि उनकी जयंती को 'Janjatiya Gaurav Divas' के रूप में प्रतिवर्ष मनाया जाएगा.

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने आज इस वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से, देश को सम्बोधित भी किया. अपने संबोधन में उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन को तेज़ धार देने और आदिवासी समाज के हितों की रक्षा के लिए, महान स्वतंत्रता सेनानी Birsa Munda के योगदान को भी याद किया है. इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने Birsa Munda को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की और झारखंड राज्य की तरक्की की कामना की है. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि आज झारखंड राज्य का स्थापना दिवस भी है.

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने अपने भाषण में कहा है, कि "सरकार ने इस बात का फैसला किया है कि आज़ादी के 'अमृत काल' के दौरान, आदिवासी परंपराओं और उनकी वीरता की गाथाओं को भव्य पहचान दी जानी चाहिए. इस क्रम में, ये ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है कि 15 नवंबर को भगवान Birsa Munda की जयंती पर, प्रतिवर्ष 'Janjatiya Gaurav Diwas' मनाया जाएगा. वहीं प्रधानमंत्री Narendra Modi ने, अपने भाषण में Atal Bihari Vajpayee को भी याद किया है. उन्होंने कहा है, कि "झारखंड राज्य को Atal Bihari Vajpayee की दृढ़ इच्छाशक्ति ने राज्य के रूप में पहचान दिलाई थी. उनकी मेहनत और दृढ़ निश्च्य के कारण, झारखंड अस्तित्व में आया था. इसके साथ ही, उन्होंने ही जनजातीय मामलों का एक अलग मंत्रालय बनाया था और उनके हितों को राष्ट्र की नीतियों से जोड़ा था. आज झारखंड स्थापना दिवस पर, मैं Atal Bihari Vajpayee को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं".

वहीं प्रधानमंत्री Narendra Modi ने अपने ट्विटर अकाउंट पर भी इस संदर्भ में एक ट्वीट पोस्ट किया है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है, कि "Birsa Munda ने जनजातियों के अधिकारों की रक्षा और आज़ादी की लड़ाई को गति देने के लिए हमेशा संघर्ष किया है. भारतवर्ष, उनके इस योगदान को हमेशा याद रखेगा".

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com