Namami Gange Project: कॉमिक्स बुक के किरदार चाचा चौधरी होंगे अभियान के शुभंकर

Namami Gange Project: कॉमिक्स बुक के किरदार चाचा चौधरी होंगे अभियान के शुभंकर

गंगा नदी के स्वच्छ रखने के लिए केंद्र सरकार की और से चलाए जा रहे अभियान Namami Gange को लगातार आगे बढ़ाया जा रहा है. अब भारतीय कॉमिक्स पुस्तक के किरदार, चाचा चौधरी को इस अभियान का शुभंकर घोषित किया है. भारतीय जल संसाधन मंत्रालय ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी. साथ ही, युवाओं और बच्चों को इस कार्यक्रम से जोड़ने के लिए Diamond Toons और Namami Gange मिशन के बीच करार हुआ है. 

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) के महानिदेशक राजीव रंजन की अध्यक्षता में हुई 37वीं कार्यकारिणी बैठक में चाचा चौधरी को Namami Gange कार्यक्रम का शुभंकर घोषित किया. इस बैठक में उत्तर प्रदेश एवं बिहार की अहम परियोजनों को लेकर भी चर्चा हुई. साथ ही Namami Gange मिशन के तहत कितना काम पूर्ण हो चुका है, और इसमें कुल कितनी राशि खर्च हो चुकी है, जैसे विषयों पर भी चर्चा की गई. बैठक में हुई चर्चा के मुताबिक, 6 साल में 50 प्रतिशत कम पूरा हो चुका है. अब तक, इस पर 11,842 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं. 

चाचा चौधरी को ही क्यों चुना 

चाचा चौधरी को गंगा और अन्य नदियों के प्रति बच्चों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से Namami Gange मिशन का शुभंकर घोषित किया है. दरअसल, 90 और 2000 के दशक में हर छोटा बच्चा चाचा चौधरी के किरदार से वाकिफ था. हालांकि, यह कहना भी गलत नहीं होगा कि, छोटे ही नहीं बल्कि बड़े लोग भी इस कॉमिक पुस्तक के दीवाने थे. हर कोई चाचा चौधरी कॉमिक्स पढ़ने को आतुर रहता था. 

दरअसल, जल संसाधन मंत्रालय ने Namami Gange मिशन को लेकर Diamond Toons के साथ हाथ मिलाया है. बता दें कि, Diamond Toons, बच्चों में जागरूकता फैलाने के लिए चाचा चौधरी पर कॉमिक्स, ई-कॉमिक्स और एनिमेटेड वीडियो बनाने और वितरण करने का काम करेगा. केंद्र का कहना है कि, बच्चे बदलाव के प्रेरक तत्व हैं, जिसके तहत किशोरों और युवाओं पर विशेष बल दिया जा रहा है. सरकारी बयान के मुताबिक, कॉमिक्स और एनिमेटेड वीडियो इस तरह से तैयार किए जाएंगे, जिससे बच्चों में गंगा और अन्य नदियों को स्वच्छ और सुंदर रखने के लिए बदलाव आए. 

क्या है Namami Gange अभियान 

Namami Gange केंद्र सरकार की योजना है, जिसे 2014 में शुरू किया गया था. Namami Gange कार्यक्रम की शुरुआत, गंगा नदी के प्रदूषण को कम करने तथा नदी को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से की गई थी. हालांकि, वर्तमान में साफ-सफ़ाई के अलावा अन्य कई योजनाओं को भी जोड़ा गया है. इस परियोजना का क्रियान्वयन केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास गंगा और गंगा कायाकल्प मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है. 

इस परियोजना के तहत गंगा नदी की ऊपरी सतह की सफ़ाई से लेकर बहते हुए ठोस कचरे की समस्या को हल करने पर जोर दिया जा रहा है. इसके साथ ही, नदी के किनारे शौचालयों का निर्माण, शवदाह गृह का आधुनिकरण और नवीनीकरण, लोगों और नदियों के बीच संबंध को लेकर घाटों के निर्माण और आधुनिकरण का लक्ष्य निर्धारित है. वहीं जैव विविधता संरक्षण, वनीकरण और पानी की गुणवत्ता के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं.

Namami Gange परियोजना के तहत घटते जलस्तर की वृद्धि, नदियों के कटाव को कम करने और उनके क्षेत्रों में सुधार लाने के लिए 30,000 हेक्टेयर भूमि पर वन लगाए जाएंगे. 

परियोजन की लागत 24,000 करोड़
मंत्रालयकेंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय 
उद्देश्य गंगा नदी की सफ़ाई
प्रारंभजुलाई 2014
अवधि18 साल 

कौन हैं चाचा चौधरी

चाचा चौधरी, भारतीय कॉमिक्स के किरदार एक बेहद लोकप्रिय हैं. चाचा चौधरी की रचना, Pran Kumar Sharma ने की थी. इसका सर्वप्रथम प्रकाशन 1971 में किया गया था. चाचा चौधरी कॉमिक्स पुस्तक, हिंदी और अंग्रेजी समेत अन्य 10 भाषाओं में प्रकाशित हो चुकी है. इसकी 10 करोड़ से अधिक प्रतियां भी बिक चुकी हैं. बता दें कि, यह भारत की सबसे ज्यादा बिकने वाली कॉमिक्स पुस्तक है. 

इस कॉमिक्स में चाचा चौधरी को एक मध्यमवर्गीय भारतीय के रूप में दिखाया गया है, जो बेहद तेज बुद्धि के बुजुर्ग आदमी माने जाते हैं. चाचा चौधरी आमतौर पर लाल पगड़ी और हाथ में एक लड़की की छड़ी लिए हुए दिखाई देते हैं. चाचा चौधरी के अलावा इस कॉमिक्स में उनकी पत्नी बीनी, रॉकेट नाम का एक वफादार कुत्ता और एक भीमकाय शरीर वाले जुपिटरवासी साबू को उनके साथ दिखाया जाता है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com